Weather News: रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर समेत कई जिलों में रात के पारे में आ रही गिरावट के चलते हल्की ठंड शुरू होने लगी थी, लेकिन अब मौसम में फिर से बदलाव हो रहा है। मौसम विज्ञानियों का कहना है कि अब न्यूनतम तापमान में बढ़ोतरी होगी। यह बढ़ोतरी पश्चिमी विक्षोभ के कारण हो रही है। साथ ही अधिकतम तापमान में मामूली वृद्धि होगी। शनिवार सुबह से रायपुर समेत प्रदेश भर में मौसम शुष्क रहा। रायपुर के साथ ही प्रदेश भर में सुबह से ही मौसम शुष्क रहा और तेज धूप निकली। तेज धूप की तपिश से गर्मी में भी थोड़ी बढ़ोतरी हुई।

राजधानी रायपुर के साथ ही बिलासपुर व राजनांदगांव में प्रदेश भर में सर्वाधिक अधिकतम तापमान 33.0 डिग्री सेल्सियस रहा। रायपुर का न्यूनतम तापमान 19.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से एक डिग्री सेल्सियस कम रहा। पेंड्रा में न्यूनतम तापमान 15.2 डिग्री सेल्सियस रहा। मौसम विज्ञानी एचपी चंद्रा ने बताया कि रविवार 24 अक्टूबर को प्रदेश का मौसम शुष्क रहेगा। सात ही अब पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से न्यूनतम तापमान में बढ़ोतरी के आसार हैं।

कलिंगा विवि में जैव प्रौद्योगिकी और जैव विज्ञान में सतत विकास पर अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन

कलिंगा विश्वविद्यालय में जैव प्रौद्योगिकी और जैव विज्ञान में सतत विकास और हलिया प्रगति केयू-आइसीबीटी-2021 पर अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन हुआ। कार्यक्रम के सभी वक्ताओं ने जैव विज्ञान और जैव प्रौद्योगिकी में हालिया प्रगति पर सतत विकास पर अपनी जानकारी दी।

सभी प्रस्तुतियों के आखिरी में मौखिक और पोस्टर प्रस्तुति के पुरस्कार विजेताओं की घोषणा हुई। साथ ही इस अवसर पर ई-पुस्तक का विमोचन भी हुआ। इस सम्मेलन के मुख्य वक्ता बगदाद विवि के डा. बुशरा सादून मोहम्मद अलनूरी थे। इनके साथ ही रविवि के डा. केशव कांत साहू और अटल बिहारी वाजपेयी विवि की डा. लतिका भाटिया थीं।

इनके साथ ही कलिंगा विवि के कुलपति डा. आर श्रीधर, महानिदेशक डा. बायजू जान, रजिस्ट्रार डा. संदीप गांधी समेत शोध विद्वान और विभिन्ना प्रतिभागी व छात्र भी शामिल थे।

Posted By: Kadir Khan

NaiDunia Local
NaiDunia Local