रायपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। अंडमान सागर और उसके आसपास एक कम दबाव का क्षेत्र बन रहा है। मौसम विभाग का कहना है कि यह प्रबल होकर एक चक्रवाती तूफान जवाद के रूप में मध्य बंगाल की खाड़ी में पहुंचने वाला है और चार दिसंबर की सुबह तक उत्तर आंध्र प्रदेश-ओडिशा तट के पास पहुंचेगा। इसके चलते तीन से पांच दिसंबर तक प्रदेश का मौसम कुछ क्षेत्रों में खराब रहेगा।

मौसम विज्ञानियों का कहना है कि प्रदेश में पूर्वी हवा आने के कारण गुरुवार दो दिसंबर को प्रदेश का मौसम शुष्क रहेगा। साथ ही अधिकतम व न्यूनतम तापमान में बढ़ोतरी होगी। बुधवार को भी राजधानी रायपुर सहित प्रदेश का मौसम शुष्क रहा। हालांकि अधिकतम व न्यूनतम तापमान में कोई विशेष बदलाव नहीं हुआ।

राजधानी के आउटर में सुबह कोहरा

न्यूनतम तापमान में आई गिरावट की वजह से रात्रि में ठंड बढ़ गई है। साथ ही आउटर क्षेत्रों में सुबह-सुबह कोहरे का भी असर देखा जा रहा है। बुधवार को रायपुर का अधिकतम तापमान 28.0 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 15.6 डिग्री सेल्सियस रहा। प्रदेश में अंबिकापुर में सर्वाधिक न्यूनतम तापमान 09.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विज्ञानियों का कहना है कि प्रदेश के मौसम में अभी बदलाव होने को है और इससे तापमान में बढ़ोतरी संभावित है।

यह बन रहा सिस्टम

मौसम विज्ञानी एचपी चंद्रा ने बताया कि चक्रवात के प्रबल होकर आग बढ़ने के कारण मौसम में बदलाव होने वाला है। चार दिसंबर की सुबह यह उत्तर आंध्र प्रदेश व ओडिशा के तट पर पहुंचेगा। इसका असर प्रदेश के मौसम पर भी पड़ेगा। इससे ही तीन से पांच दिसंबर तक प्रदेश का मौसम खराब रहेगा।

Posted By: Ravindra Thengdi

NaiDunia Local
NaiDunia Local