रायपुर, सतीश पांडेय। Road Accident: रायपुर जिले में सड़क हादसे में कमी लाने की कवायद में जुटी ट्रैफिक पुलिस अब जिन ग्रामीण क्षेत्र में सड़क हादसे में ज्यादा मौतें हो रही हैं, वहीं पर जाकर ट्रैफिक चौपाल लगाकर ग्रामीण वाहन चालकों को यातायात नियमों के प्रति जागरूक करने का काम कर रही है। अब तक ट्रैफिक पुलिस के अधिकारी तिल्दा, धरसींवा, विधानसभा और अभनपुर इलाके के 20 से अधिक ग्राम पंचायतों में ट्रैफिक चौपाल लगाकर ग्रामीण वाहन चालकों को यातायात नियमों की जानकारी देकर सड़क हादसा से बचने के उपाय बता रहे है।

दरअसल शहरी इलाके के मुकाबले 70 फीसद सड़क दुर्घटना ग्रामीण क्षेत्रों में होना पाया गया है। इसके पीछे मुख्य कारण ग्रामीण क्षेत्रों में दो पहिया, चार पहिया वाहनों की संख्या में अप्रत्याशित वृद्धि होना है। यहीं नहीं अप्रशिक्षित एवं नाबालिग वाहन चालकों की संख्या में भी भारी वृद्धि होना, ग्रामीण क्षेत्रों में सड़कों का चौड़ीकरण एवं स्मूथ रोड होने से ग्रामीण वाहन चालक तेज रफ्तार में वाहन चलाकर हादसे के शिकार हो रहे है।

राजधानी रायपुर को सड़क दुर्घटना मुक्त करने एवं लोगों में यातायात नियमों के पालन के प्रति जन जागरूकता लाने यातायात पुलिस का चौपाल अब जिले के अत्यधिक दुर्घटना जन्य ग्रामीण क्षेत्रों में लग रहा है।जन जागरूकता कार्यक्रम में ग्रामीण वाहन चालकों को यातायात नियमों की विस्तृत जानकारी देने के साथ साथ यातायात नियमों का पालन करते हुए वाहन चलाने को कहा जा रहा है ताकि कम से कम सड़क हादसे में मौते हो सके।

सड़क हादसा रोकने की कवायद

यातायात डीएसपी सतीश ठाकुर ने बताया कि रायपुर जिले में घटित सड़क दुर्घटनाओं का अवलोकन करने पर कुल घटित सड़क दुर्घटना का 70 फीसद दुर्घटना ग्रामीण क्षेत्रों में हो रहे है।इसकी मुख्य वजह अप्रशिक्षित एवं नाबालिक के हाथों में दोपहिया वाहन का हैंडल थमा देना है। ये लोग तेज रफ्तार में वाहन चलाकर हादसे में अपनी जान गंवा रहे है। ग्रामीण क्षेत्र के अधिकांश वाहन चालकों को यातायात नियमों की जानकारी नहीं होती जिसके कारण भी सड़क दुर्घटना बढ़ रही हैं।जिले को सड़क दुर्घटना मुक्त करने की कवायद यातायात पुलिस ने शुरु की है।इसी क्रम में यातायात पुलिस के अधिकारी और प्रशिक्षक टीके लाल भोई अत्यधिक दुर्घटना जन्म ग्रामीण क्षेत्रों में जाकर लोगों को यातायात नियमों की विस्तृत जानकारी दे रहे हैं।साथ ही नियमों का पालन करने की अपील भी कर रहे है।

यह दी जा रही सीख

रायपुर जिले के तिल्दा, धरसींवा एवं अभनपुर के 20 से अधिक ग्राम पंचायतों में ट्रैफिक चौपाल लगाकर ग्रामीणों को यातायात नियमों की विस्तृत जानकारी देने के साथ ही वाहन चलाते समय बरती जाने वाली सावधानियां जैसे हेलमेट पहनने, नशे की हालत में वाहन ना चलाने, तीन सवारी,नाबालिक बच्चों को वाहन न देने, ओवरलोडिंग वाहन ना चलाने आदि की सीख ग्रामीण वाहन चालकों को दी जा रही है।

वर्जन-

ट्रैफिक चौपाल के जरिए यातायात पुलिस ग्रामीण वाहन चालकों को यातायात नियमों पाठ पढ़ा रही है। सड़क हादसे में होने वाली ज्यादातर मौत यातायात नियमों की अनदेखी के कारण हो रही है। नियमों का सख्ती से पालन करने से ही मौतों को रोका जा सकता है।

- एमआर मंडावी, एएसपी ट्रैफिक

Posted By: Shashank.bajpai

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags