रायपुर। Lockdown In Raipur: कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए राजधानी रायपुर में नौ अप्रैल से 19 अप्रैल तक के लिए लॉकडाउन लगा दिया गया है। पिछली बार जब लॉकडाउन लगाया गया था, तो दिहाड़ी मजदूरी करने वाले हजारों लोगों को अपने घरों तक पैदल जाना पड़ा था। इस बार वैसी स्थिति पैदा नहीं हो, इसे देखते हुए मजदूरों ने लॉकडाउन प्रभावी होने से पहले ही अपने घरों के लिए यात्रा करना शुरू कर दिया है।

रेलवे स्टेशन और बस स्टैंड पर लोगों की भारी भीड़ जमा हो गई है। पहले के अनुभव से डरे हुए मजदूर किसी भी तरह से अपने घर जल्दी और सुरक्षित पहुंचना चाहते हैं। बताते चलें कि कोरोना संक्रमण के बढ़ते हुए मामलों को देखते हुए कई शहरों में नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया है। वहीं, कई शहरों में सप्ताहांत में कर्फ्यू लगाया जा रहा है।

इसी कड़ी में छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में नौ अप्रैल से लेकर 19 अप्रैल तक पूर्ण लॉकडाउन लगा दिया गया है। इससे एक ओर जहां लोग राशन खरीदने के लिए बाजारों में उमड़ पड़े हैं, वहीं सब्जी के दाम आसमान छूने लगे हैं। आलम यह हो गया है कि नींबू 10 रुपए में एक के भाव से बिक रहा है।

उधर, दिहाड़ी मजदूरी करने वाले और लॉकडाउन में काम न मिलने की वजह से छोटे-मोटे काम करने वाले लोग अपने घर जाने की जल्दबाजी में नजर आ रहे हैं। दरअसल, साल 2020 में जब पहली बार लॉकडाउन लगाया गया था, तो उसकी अवधि लगातार बढ़ने की वजह से कई मजदूरों के सामने भूखे मरने की नौबत आ गई थी। लिहाजा, देशभर से मजदूरों ने अपने घर पहुंचने के लिए पैदल ही यात्रा करना शुरू कर दिया था।

Posted By: Shashank.bajpai

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags