रायपुर। Raipur Crime News: रायपुर में हत्याकांड की वारादत थम नहीं रही है।पिछले दिनों दलदल सिवनी इलाके में हुए दोहरे हत्याकांड के सभी आरोपित पकड़े भी नहीं गए थे कि रविवार को दिनदहाड़े गुढ़ियारी के रामनगर इलाके में फिर से एक चाकूबाजी की घटना हो गई। दिहाड़ी मजदूर और ठेकेदार के बीच का आपसी विवाद इस कदर बढ़ा कि बात मारपीट तक जा पहुंची। इसी बीच बदमाश मजदूर ने चाकू निकालकर सामने खड़े ठेकेदार पर ताबड़तोड़ वार कर दिया। इस हमले में गंभीर रूप से घायल ठेकेदार की मौके पर ही मौत हो गई।हत्या की यह वारदात कबीर चौक के पास दोपहर 12 से एक बजे के बीच की है।घटना के बाद से आरोपित फरार है। पुलिस उसकी तलाश कर रही है।

रामनगर पुलिस चौक प्रभारी गुरूविंदर सिंह संधू ने बताया कि मूलत: राजनांदगांव जिले के वार्ड नंबर आठ,कहारकसा निवासी मृतक धनेश्वर प्रसाद पाल (40) पिता गोपाल रामनगर में रहकर ठेकेदारी का काम करता था। दोपहर के समय आरोपित दिहाड़ी मजदूर रामकुंड के जयराम ध्रुव का किसी बात को लेकर धनेश्वर से विवाद हुआ। इसी दौरान जयराम ने अपने पास रखे चाकू से धनेश्वर के जांघ,कूल्हे समेत शरीर के अन्य हिस्से में ताबड़तोड़ वार कर दिया।

चौकी के समीप हुई वारदात

रामनगर पुलिस चौकी के समीप हुई हत्या से रहवासी सन्ना है।घटना के प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि मृतक और आरोपित के बीच बहस होते हुए देखा था।इसके बाद आरोपित ने मृतक के कमर के नीचले हिस्से पर वार कर दिया।मृतक ने खुद को बचाने की कोशिश की।काफी खून बहने की वजह से वह जमीन पर गिर पड़ा।इस दौरान आरोपित भागने में सफल रहा।मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है।

15 दिन में चार हत्या

राजधानी में चाकूबाजी, हत्या की वारदात आम बात हो गई है। मामूली आपसी विवाद में बदमाश एक दूसरे को चाकू मार रहे हैं। पिछले 15 दिनों में राजधानी में इस घटना को मिलाकर चार लोगों को हत्या हो चुकी है। पिछले दिनों दलदल सिवनी इलाके में दो युवकों की क्षेत्र के पुराने बदमाशों ने चाकू मारकर हत्या कर दी थी। इस मामले में पुलिस ने आरोपित त्रिशाल दुबे समेत आठ को पकड़ा था। जेल जाते वक्त मोवा निवासी युवराज सिंह ने पीछे से आकर त्रिशाल पर चाकू से वार कर दिया था। युवराज हत्याकांड का बदला लेना चाहता था। पुलिस ने उसे दबोच लिया है। हत्याकांड की साजिश रचने वाली युवती और उसका दोस्त फरार हैं। वहीं जनवरी महीने के पहले सप्ताह में ही टेकारी इलाके में कमल नाम के युवक ने सब्जी नहीं बनाने से नाराज होककर अपनी मां फूलबाई के सिर पर फावड़ा मारकर हत्या कर दी थी।

बेखौफ हो चुके बदमाश

दलदल सिवनी कांड के बाद 100 से ज्यादा अफसरों ने जवानों के साथ मिलकर शहरभर में धरपकड़ अभियान चलाकर 160 बदमाशों को पकड़ा था। बाद में सभी बदमाशों की सिविल लाइन थाने से कोर्ट तक जुलूस निकाला था। बावजूद इसके बदमाशों में पुलिस का खौफ नहीं है।आज हुई वारदात से साफ है कि चाकूबाजों में पुलिसिया कार्रवाई का कोई डर नहीं है।

Posted By: Ashish Kumar Gupta

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close