रायपुर। कुम्हारी के पास चंदनीडीह में खारुन नदी के नए पुल के नीचे शुक्रवार की सुबह बंद बोरी में बंधे में मिले 22 साल के युवक के शव की शिनाख्त तीसरे दिन भी नहीं हो पाई। मृतक की जेब से मिले सुलेसन के आधार पर पुलिस का मानना है कि वह इसका आदी रहा होगा, लिहाजा आसपास के नशेड़ी युवकों से पूछताछ की जा रही है। शार्ट पीएम रिपोर्ट में मृतक के गले और पेट में धारदार हथियार (चाकू) के 19 से अधिक वार होने की पुष्टि हुई है। ऐसे में तय है कि हत्या में एक से अधिक लोग शामिल रहे होंगे। जिस तरह से मृतक के हाथ-पैर बांधकर शव को ठिकाने लगाने बोरे में बंद करके नदी में फेंका गया इससे आशंका है कि हत्या कहीं और करने के बाद लाश को चारपहिया वाहन से लाकर पुल के ऊपर से नदी में फेंका गया होगा। लाश की शिनाख्त कराने आसपास के गांवों, थाना क्षेत्र में मृतक की फोटो भेजी गई है।

आजाद चौक सीएसपी नसीर सिद्दीकी ने बताया कि शव की शिनाख्त होना जरूरी है, इसके बाद ही जांच आगे बढ़ेगी। पुलिस को शॉर्ट पीएम रिपोर्ट मिल गई है। युवक के पेट, पीठ और गर्दन के पास धारदार हथियार से बेरहमी से ताबड़तोड़ 19 वार किए गए हैं। मौके पर ही उसकी मौत हो गई। पुलिस को शक है कि मृतक नशा करने वाले से जुड़ा हो सकता है। हुलिए से लगता है कि वह सामान्य परिवार का था। युवक की हत्या की वजह आपसी रंजिश या प्रेम संबंध होने की संभावना भी जताई जा रही है।

हाथ में गोदना से कालिया, केएल लिखा

मृतक के हाथ में गोदना से कालिया और केएल लिखा हुआ है। लिहाजा पुलिस इसी नाम के आधार पर आसपास के गांवों में मृतक की फोटो भेजकर शिनाख्ती की कोशिश में लगी है। हत्या के बाद शव को रात के समय ही फेंका गया है। क्योंकि खारून नदी में रोज आसपास के लोग नहाने आते हैं। अगर लाश पुरानी होती तो अकड़ जाती और कोई न कोई जरूर देखा होता।

रायपुर-दुर्ग के नशेड़ियों से पूछताछ

मृतक की जेब सुलेसन मिला है। इसका इस्तेमाल युवक नशे के लिए करते हैं, लिहाजा रायपुर-दुर्ग के नशेड़ियों से पूछताछ की जा रही है। खबर मिली थी कि मृतक को पास के एक बिरयानी सेंटर में काम करते देखा गया था। पुलिस ने बिरयानी सेंटर के संचालक समेत कर्मचारियों से पूछताछ की, मृतक के शव की फोटो दिखाई, की लाश का फोटो दिखाया लेकिन किसी ने भी पहचान नहीं की। वहीं नहरपारा और आसपास के इलाके में भी जाकर पतासाजी की गई।

Posted By: Nai Dunia News Network