राजनांदगांव। अगले माह यानी जून से खरीफ मौसम की खेती शुरू हो जाएगी। माटी तिहार (अक्षय तृतीया) से किसानों ने इसकी तैयारी भी शुरू कर दी है। इस बीच किसानों, भूमिहीन कृषि मजदूरों, पशुपालकों व महिला स्व-सहायता समूहों को सौगात के रूप में करीब 160 करोड़ रुपये मिल गये। शनिवार को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बटन दबाकर राजीव गांधी किसान न्याय योजना, भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना के अलावा गोधन न्याय योजना की यह राशि उनके खातों में सीधे अंतरित कर दी। किसानों को खरीफ मौसम की खेती में यह राशि काफी मददगार मानी जा रही है।

पद्मश्री गोविंदराम निर्मलकर आडिटोरियम में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री वर्चुअल रूप से जुड़े थे। उन्होंने जिले के दो लाख 11 हजार 153 किसानों के खाते में धान के बोनस की पहली किश्त 156 करोड़ 33 लाख 38 हजार रूपए की राशि अंतरित की।

राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना के 19 हजार 786 हितग्राहियों को तीन करोड़ 95 लाख 72 हजार के अलावा गोधन न्याय योजना के हितग्राहियों को पांच लाख 71 हजार 254 रूपए की राशि उनके खातों में अंतरित की गई।

राजीव गांधी का सपना

साकार हो रहा

मुख्य अतिथि के रूप में जिले के प्रभारी मंत्री अमरजीत भगत ने कहा कि देश के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने देश को 21वीं सदी में ले जाने का सपना देखा था। वह साकार हो रहा है। उनकी बनाई राह हमेशा याद रहेगी। छत्तीसगढ़ की पहचान धान के कटोरे के रूप में है। किसान हितैषी सरकार के योजनाओं के माध्यम से अन्नादाताओं के चेहरों पर खुशी झलक रही है। प्रभारी मंत्री ने कर्ज माफी 2500 रूपए समर्थन मूल्य में धान की खरीदी समेत अन्य योजनाओं से जुड़ी उपलब्धियों को साझा किया। राज्य अन्य पिछड़ा वर्ग विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष दलेश्वर साहू, अनुसूचित जाति विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष भुवनेश्वर बघेल, खुज्जी छन्नाी साहू, खैरागढ़ विधायक यशोदा वर्मा, जिला सहकारी केंद्रीय बैंक के अध्यक्ष नवाज खान, महापौर हेमा देशमुख, पदम कोठारी व प्रगतिशील किसान एनेश्वर वर्मा ने भी कार्यक्रम में अपनी बात रखी। इस अवसर पर सभी ने आतंकवादी विरोधी दिवस की शपथ ली।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close