राजनांदगांव । रोका-छेका के तहत नगर निगम का मवेशी धरपकड़ अभियान रोजाना जारी है। अभियान के क्रियान्वयन में नगर निगम की टीम हर दिन शहर के प्रमुख चौक चौराहों में घूमंतु व बैठे बेसहारा मवेशियों को पकड़ने की कार्रवाई कर रही है। इसी कडी में बीते शुक्रवार को शहर के प्रमुख चौक चौराहों से 15 बेसहारा मवेशियों की धरपकड़ की गई और इस माह अब तक कुल 50 मवेशी पकड़े गए है। जिन्हें मवेशी मालिकों द्वारा छुडाने पर अर्थदंड लेकर छोड़ा गया। उल्लेखनीय है कि कई पशु मालिकों द्वारा अपने मवेशियों को खुला छोड़ देते है, जिससे मवेशी चौक चौराहों में घूमते व बैठे रहते है। जिससे यातायात बाधित होती है और दुर्घटना की संभावना बनी रहती है। बारिश में दुर्घटना भी होती है। जो आमजनों के साथ ही पशुओं के लिए भी खतरनाक है। निगम द्वारा अब लापरवाह पशुपालकों के विरूद्ध पशुपालक पशुक्रूरता अधिनियम के तहत कानूनी कार्रवाई की जाएगी। शासन द्वारा भी रोका-छेका अभियान के तहत बेसहारा घुमंतु पशुओं को पकड़ने व पशु मालिकों को अपना मवेशी घर में बांध कर रखने समझाइश देने के निर्देश दिए गए हैं। निर्देश के अनुक्रम में निगम द्वारा धर-पकड़ अभियान प्रतिदिन चलाया जा रहा है। नगर निगम आयुक्त डा. आशुतोष चतुर्वेदी ने बेसहारा मवेशियों को पकड़ने टीम गठित की है। टीम हर रोज चौक चौराहों से बेसहारा मवेशियों को पकड़ने की कार्रवाई कर रही है। इसी कडी में स्टेड स्कूल के सामने, निगम कार्यालय के पास, दीनदयादल नगर, अंबेडकर चौक व आरके नगर से 15 मवेशियों को पकड़ा गया। मवेशियों को पकड़कर कांजी हाउस में रखा गया है और इन्हें छोड़ने पर पशु मालिकों से 570-570 रुपये अर्थदंड लिया जाता है।

आयुक्त डा. चतुर्वेदी ने दुर्घटना से बचने मवेशी मालिक अपने जानवर को निर्धारित स्थल में बांध कर रखने और चौक-चौराहों व सड़कों पर घुमने वाले पशुओं को खुला न छोड़ने की अपील की है। उन्होंने कहा कि चौक-चौराहों व सड़कों पर खुला घुमते पाये जाने पर पशुओं को नगर निगम के अमला द्वारा पकड़कर कांजी हाऊस में बंद कर नियमानुसार शुल्क व जुर्माना भुगतान करने के उपरांत ही मुक्त कर संबंधित पशु पालकों को सौपा जाएगा। आयुक्त ने कहा कि निगम द्वारा अब लापरवाह पशु पालकों के विरूद्ध पशुपालक पशुक्रूरता अधिनियम के तहत कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close