स्लग- ये कैसी जिम्मेदारी : धारा-144 का पालिका अधिकारी व नेताओं ने किया उल्लंघन, नायब तहसीलदारों ने भी हुए पार्टी में शामिल

फोटो- 03 राज 13- विदाई समारोह के मंच पर पालिका अध्यक्ष मीरा चोपड़ा समेत अन्य जनप्रतिनिधि भी बगैर मास्क लगाए बैठे थे।

फोटो- 03 राज 14 - समारोह में पालिका अधिकारी व कर्मचारियों के परिवार के लोग भी शामिल हुए, जिन्होंने सेल्फी लेकर शेयर की फोटो।

राजनांदगांव। नईदुनिया प्रतिनिधि

सैंया भए कोटवार तो डर काहे का होए....। इस कहावत को खैरागढ़ नगर पालिका परिषद के अधिकारियों ने चरितार्थ कर दिखाया है। मेडिकल कालेज में जूनियर डाक्टरों की शराब पार्टी के बाद खैरागढ़ पालिका के अधिकारी व कर्मचारियों ने धारा-144 का उल्लंघन कर जमकर पार्टी इंज्वॉय किया। इसमें नगर के कई जनप्रतिनिधि भी शामिल हुए। संगीत इस नगरी में देर रात तक लॉकडाउन के नियमों को दरकिनार कर अफसरों व नेताओं ने गीत-संगीत का आयोजन भी किया। गंभीर बात तो यह है कि इस आयोजन में दो नायब तहसीलदार भी शरीक हुए, जो खुद दूसरों को लॉकडाउन के नियमों की समझाइश देते हैं। वहीं अफसरों ने प्रशासनिक नियमों का जमकर मजाक उड़ाया। जब नोडल अधिकारी राहूल रजक से मामले की शिकायत की भनक जनप्रतिनिधियों व अफसरों को लगी, तब एक-एककर कार्यक्रम से लोग छटते गए। ज्ञात हो कि एक दिन पहले ही जिला मुख्यालय में मेडिकल कालेज के जूनियर डाक्टर देर रात तक शराब पार्टी करते मिले थे। इस पूरे मामले पर कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा ने जांच के निर्देश दिए हैं।

अनलॉक-01 के बाद भी जिले में धारा-144 लागू है। कोरोना संक्रमण को लेकर शादी में कम से कम 50 और अंत्ये्रि कार्यक्रम में करीब 20 लोग शामिल होने की अनुमति दे रहे है। इस बीच खैरागढ़ नगर पालिका परिषद की सीएमओ पूजा पिल्ले की विदाई पार्टी में अफसरों ने राज्य सरकार के नियमों को दरकिनार कर धारा 188 का खुला उल्लंघन किया। मंगलवार की रात पुराने गार्डन में नवनिर्मित लाल दिलीप सिंह स्मृति मंगल भवन में पालिका अध्यक्ष मीरा चोपड़ा, उपाध्यक्ष रामाधार रजक के साथ पालिका के अधिकारी व कर्मचारी समेत उनके परिजन व कई कांग्रेस-भाजपा के नेता भी विदाई समारोह की इस पार्टी में शरीक हुए थे। बड़ी बात यह है कि लॉकडाउन के नियमों से आम लोगों को जागरूक करने राज्य सरकार अफसरों को ही निर्देशित कर रहा है, लेकिन यहां प्रशासनिक अफसर ही शासन के निर्देशों का उल्लंघन कर लॉकडाउन में पार्टी इंज्वॉय करने में मशगूल है। अफसरों और नेताओं की यह मनमानी समझ से परे हैं।

0 नेताओं और ठेकेदारों ने भी खूब मजे किए पार्टी में

विदाई समारोह के इस आयोजन में 20 या 50 नहीं बल्कि डेढ़ सौ से अधिक लोग मौजूद थे। इनमें कांग्रेस-भाजपा के जनप्रतिनिधि व नेता समेत कई ठेकेदार, पार्षद, एल्डरमैन और पालिका समेत कई विभागों के अधिकारी कर्मचारी अपने परिवार के साथ शामिल हुए थे। विदाई समारोह को लेकर कई तरह के सवाल उठ रहे हैं। लेकिन सबसे बड़ा सवाल यह है कि सबकुछ जानकर भी पालिका अधिकारी व कर्मचारियों ने कोरोना संक्रमण के बीच धारा 144 का उल्लंघन किया तो इसकी अनुमति किसने दी। अगर बिना अनुमति यह समारोह कराया गया तो प्रशासनिक अफसरों ने कार्रवाई क्यों नहीं की।

0 जानकर भी खामोश रह गए अफसर

खैरागढ़ के मंगल भवन में रात करीब 10 बजे तक गीत-संगीत का कार्यक्रम चल रहा था। करीब साढ़े 9 बजे कुछ लोगों ने नोडल अधिकारी डिप्टी कलेक्टर राहूल रजक को इसकी जानकारी भी दी। यही नहीं एसडीएम निष्ठा पांडे को भी खबर दी गई, ताकि कोरोना के संकटकाल में अफसरों की मनमानी पर अंकुश लगाया जा सकें। लेकिन विडंबना यह है कि शिकायत के बाद भी अफसरों ने किसी तरह की कोई कार्रवाई नहीं की। बड़ी बात तो यह है कि इस आयोजन में खैरागढ़ के एक नहीं बल्कि दो नायब तहसीलदार भी पार्टी इंज्वॉय करने शामिल हुए थे।

0 नियमों का खुला उल्लंघन

पालिका में सीएमओ रही पूजा पिल्ले के विदाई समारोह में शामिल हुए जनप्रतिनिधियों व नेताओं के साथ अफसरों और उनके परिजनों ने नियम-कायदों को मजाक बना डाला। आयोजन में ना ही कोई मास्क लगाए नजर आया और ना किसी ने शारीरिक दूरी का पालन किया। सभी लोग एक-दूसरे की सेल्फी लेने में व्यस्त दिखे। समारोह में मंच पर बैठे जनप्रतिनिधि और नेताओं में भी किसी ने मास्क नहीं लगाया। इस तरह की लापरवाही समझ से परे है, जबकि जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 36 है। लगातार नए मरीज भी सामने आए हैं। ऐसे दौर में पालिका अफसरों व कर्मचारियों की मनमानी भी कई सवाल खड़ा कर रही है।

डीन ने दिए जांच के निर्देश

खैरागढ़ की तरह जिला मुख्यालय के मेडिकल कालेज में जूनियर डाक्टरों की मनमानी भी एक दिन पहले सामने आयी है। यहां जूनियर डाक्टर हास्टल की छत पर शराब और चिकन पार्टी कर रहे थे। साउंड सिस्टम बजाकर खूब सेलिब्रेशन हुआ। मगर इसकी जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और सभी जूनियर डाक्टरों को समझाइश देकर छोड़ दिया। मामले का खुलासा होने के बाद कालेज की डीन डा. रेणुका गहिने ने जांच के निर्देश दिए हैं। डा. गहिने ने कहा कि जांच के बाद ही मामले में कुछ स्पष्ट होगा। जांच में जो भी दोषी मिलेगा, उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। इस तरह की मनमानी करना बिल्कुल गलत है।

-----

0 वर्जन...

जिले में धारा 144 लागू है। इस तरह की पार्टी या आयोजन करना गलत है। खैरागढ़ एसडीएम को निर्देशित किए हैं। जो भी आयोजक होगा, उसे नोटिस देकर जवाब मांगने कहा है। अगर आयोजन की अनुमति नहीं ली गई होगी तो सख्त कार्रवाई की जाएगी।

टोपेश्वर वर्मा, कलेक्टर

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना