राजनांदगांव (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कलेक्ट्रेट के सामने फ्लाईओवर के नीचे शुक्रवार को अपनी विभिन्ना मांगों को लेकर ट्रेड यूनियन के बैनर तले आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं सहित विभिन्ना संगठनों ने धरना-प्रदर्शन किया और प्रधानमंत्री के नाम कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा। इस दौरान मांगों के समर्थन में उन्होंने सरकारों के खिलाफ नारेबाजी भी की।

अपनी विभिन्ना मांगों को लेकर ट्रेड यूनियन के बैनर तले आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के यूनियन की महिलाओं ने शुक्रवार को धरना-प्रदर्शन कर विरोध जताया। कलेक्ट्रेट के सामने फ्लाईओवर के नीचे बड़ी संख्या में ट्रेड यूनियन के बैनर तले आंगनबाड़ी कार्यकर्ताएं काफी संख्या में जुटीं थीं। अंत में उन्होंने अपनी विभिन्ना मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा जिसमें कोविड के दौरान सुरक्षा उपकरण, जोखिम भत्ता, मृत्यु होने पर मुआवजा, नियमितीकरण, न्यूनतम वेतनमान, सामाजिक सुरक्षा और फ्रंटलाइन वर्कर को पेंशन जैसी अन्य मांगों का उल्लेख किया गया है।

जान जोखिम में डालकर किया काम ज्ञापन में कहा गया है कि कोविड-19 महामारी के दौरान भी लगातार इन महिलाओं ने कार्य किया है। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिकाओं ने अपनी जान की परवाह न करते हुए पूरे कोविड के समय लगन से काम किया। वहीं न्यूनतम वेतन मृत्यु होने पर मुआवजा और नियमितीकरण सहित अन्य मांगों को लेकर प्रदर्शन कर प्रधानमंत्री के नाम कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा।

चरणबद्ध चल रहा है आंदोलन

फ्रंटलाइन वर्कर का दर्जा मांगने आंगनबाड़ी कार्यकर्ता पिछले डेढ़ साल से आंदोलन कर रहीं हैं। नियमितीकरण, स्थायी वेतन समेत अन्य सुविधाएं भी इनकी तरफ से मांगी जा रही है। इन मांगों को लेकर इसके पहले भी आंदोलन किया जा चुका है। चरणबद्ध आंदोलन के तहत कई बार रैली, धरना आदि किया जा चुका है। इसी कड़ी में शुक्रवार को फिर आंदोलन कर सरकार के प्रति ध्यानाकर्षण कराया गया।

वर्जन

हमारा प्रदर्शन आगे भी जारी रहेगा। जब तक केंद्र सरकार अपनी मांगों को नहीं मान लेती, तब तक आंदोलन करते रहेंगे।

-गजेंद्र झा, अध्यक्ष, ट्रेड यूनियन

यह जो मांगें है, इसे केंद्र को भेज दिया जाएगा क्योंकि यह केंद्र सरकार के हाथों में है। प्रदर्शनकारियों को इस बारे में बता दिया गया है।

-इंदिरा देवहारी , संयुक्त कलेक्टर

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local