फोटो कैप्शन- 07 घायल प्रधान आरक्षक विकास ठाकुर

08 घायल आरक्षक कमलेश रावटे

09 आरोपियों के घर के बाहर तैनात जवान

10 घायल आरक्षक को हॉस्पिटल ले जाते लोग

------

0- स्लगः करोनो लॉकडाउन इफेक्टः थल सेना से संबंध रखने वाला और पार्षद सोनकर के परिवार से छह सदस्यों पर एफआइआर दर्ज

बालोद। नईदुनिया न्यूज

कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन के दौरान ही गुरुवार को पुलिस कर्मियों पर गुंडरदेही ब्लॉक के अर्जुंदा के पार्षद और थल सेना से संबंध रखने वाले सोनकर परिवार ने हमला कर दिया। नियमों का पालन करते हुए सब्जी दुकान बंद करने की नसीहत सोनकर परिवार को इतनी नागवार गुजरी की आनन-फानन उसने डंडा एवं तलवार निकालकर उन्होंने पुलिस कर्मियों पर हमला कर दिया। इससे प्रधान आरक्षक विकास ठाकुर के सर पर गंभीर चोटें आईं। वही कमलेश रावटे आरक्षक के हाथों पर भी गहरे जख्म लगे। सोनकर परिवार के हमले के दौरान हाथ में तलवार देख अन्य पुलिसकर्मी अपनी सुरक्षा के लिए इधर-उधर भागने लगे। इस बीच वहां मौजूद जनसमुदाय पुलिस कर्मियों को बचाने के बजाय अथवा किसी तरह का हस्तक्षेप करने की बजाय उस हमले का वीडियो बनाता रहा।

गुंडरदेही ब्लॉक के ग्राम अर्जुंदा में राजनीति में खासा हस्तक्षेप रखने वाले पार्षद सोनकर के परिजनों ने नियम विपरीत सब्जी बेचने लगा। भारी मात्रा में भीड़ देखकर जब पुलिसकर्मियों ने उन्हें शासन के निर्धारित मापदंड के अनुरूप भीड़ एकत्रित न करने की हिदायत दी, तो उक्त परिवार गुंडागर्दी करते हुए पुलिस कर्मियों से उलझ पड़ा। इसके बाद भी जब उसका मन नहीं भरा, तो उसने तलवार-डंडे एवं अन्य घातक हथियारों से हमला कर दिया। हालांकि घटना की जानकारी लगते ही जिले के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक डीआर पोर्ते के साथ-साथ डीएसपी दिनेश सिन्हा और अन्य दल बल के साथ राजस्व विभाग के अधिकारी भी मौके पर पहुंचे। जहां उन्होंने आनन-फानन घायल जवानों को तत्काल अर्जुंदा चिकित्सालय में भर्ती कराया। वहीं आरोपित परिवारों के विरुद्घ कड़ी कार्रवाई करते हुए दो लोगों की गिरफ्तारी करने के साथ ही शांति व्यवस्था बनाए रखन के लिए गांव के साथ-साथ सोनकर परिवार के घर के बाहर भी पुलिस बल भी तैनात कर दिया है। अन्य आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस बल रवाना किया है। एक ओर जहां पूरा देश कर्फ्यू से घिरा हुआ है। ऐसी स्थिति में सोनकर परिवार की दबंगई को लेकर जिले में आक्रोश है।

सबसे शर्मनाक बात

इस पूरे मामले में सबसे शर्मनाक बात यह है कि जिस वक्त हाथ में तलवार डंडे आदि लेकर सोनकर परिवार पुलिस कर्मियों के ऊपर हमला कर रहा था और आसपास खड़े लोगों को ललकार रहा था, तो लोग उस वक्त जनता की हिफाजत में लगे पुलिस कर्मियों की सहायता करने कोई सामने नहीं आया बल्कि सभी अपने-अपने मोबाइल से वीडियो बनाते रहे।

सोनकर परिवार द्वारा हमले की पहली घटना नहीं

पुलिसकर्मियों पर सोनकर परिवार द्वारा हमला किए जाने की यह पहली घटना नहीं है। सूत्रों की माने तो सोनकर परिवार शुरू से ही विवादों में रहा है तथा मारपीट अथवा अन्य कई विवादों को लेकर भी इनके विरुद्घ पूर्व में भी अपराध दर्ज किए गए हैं। इसके पूर्व भी राजनीतिक पृष्ठभूमि होने के कारण लगातार इनके कई मामले दबते आएं हैं, जिसके चलते इनके हौसले आज इतने बुलंद हो गए कि कानून की हिफाजत करने वालों के ऊपर ही मारपीट गाली-गलौज करने के साथ-साथ हथियार उठाने से भी ये बाज नहीं आ रहे हैं। कुछ लोगों ने तो ऐसे परिवार पर जिलाबदर तक किए जाने की मांग की है।

छह आरोपितों पर अपराध दर्ज

इस पूरे मामले में सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि उक्त परिवार का तालुकात आर्मी से भी है। यहां का एक नवयुवक भारतीय थल सेना में कार्यरत है। बावजूद उसके उक्त परिवार द्वारा इस तरह का कृत्य किए जाने से ज्यादा आक्रोश पनप रहा है। इस पूरे मामले को लेकर 6 लोगों के विरुद्घ अपराध दर्ज कर लिया गया है।

आरोपितों के नाम

इशू कुमार सोनकर पिता शंकर लाल (32), रोमन लाल सोनकर पिता शंकर लाल (32), राजेश सोनकर पिता शंकर लाल (40), जितेंद्र सोनकर पिता स्व. दाऊ लाल (35), डामेश्वरी सोनकर पिता ईशू (28), राजू सोनकर पिता स्व उदय राम सोनकर उम्र 25 वर्ष ग्राम भालूकोन्हा।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket