खैरागढ़ (नईदुनिया न्यूज)। एसडीएम निष्ठा पांडेय तिवारी शनिवार को इलाके का दौरा कर सरकारी योजनाओं का हाल जाना। निरीक्षण के दौरान एसडीएम विचार पहुंची, जहां गौठान में वन विभाग की ओर से पौधा एवं ई गार्ड प्रदान नहीं करने को लेकर नाराजगी जाहिर की। वहीं उप वन मंडलाधिकारी को शोकाज नोटिस थमाया।

बताया जा रहा है कि विचारपुर के कोटरीछापर गांव में कृषि विभाग के आरईएओ द्वारा वर्मी निर्माण का समुचित प्रशिक्षण समूह की महिलाओं को नहीं देने एवं सतत निरीक्षण नहीं करने पर भी नाराजगी जाहिर की। उन्हें भी कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। इसी तरह ब्लाक के महरूमकला गौठान एवं फत्तेपुर गौठान में वर्मी टांका में गोबर व्यवस्थित रूप से समय में भराई नहीं करने के अलावा समूह की महिलाओं को प्रशिक्षण एवं निरीक्षण के अभाव को देखते हुए ग्रामीण कृषि विकास अधिकारी दीप्ति पाल को नोटिस जारी किया। साथ ही ग्राम में दो माह से सामुदायिक भवन निर्माण कार्य बंद होने पर पंचायत के सरपंच और सचिव पर नाराजगी जाहिर की। वहीं दस दिन के अंदर निर्माण कार्य पूरा कराने की बात कही और सब इंजीनियर को शोकाज नोटिस थमाया। इसके अलावा चिचोला वनधन विकास केंद्र निर्माण को को एवं आंगनबाड़ी को जल्द से जल्द पूर्ण कराने के लिए सरपंच और सचिव को निर्देश दिए। इस अवसर पर जनपद सीईओ रोशनी ज्ञगत सहित राजस्व, कृषि, वन विभाग कर्मचारी सहित पंचायत प्रतिनिधि उपस्थित थे।

--------

सहायक शिक्षक फेडरेशन के आंदोलन को व्याख्याता संघ का समर्थन : कलेश्वर

खैरागढ़ (नईदुनिया न्यूज)। सहायक शिक्षक फेडरेशन के आंदोलन को छत्तीसगढ़ व्याख्याता संघ ने खुला समर्थन दिया है। व्याख्याता संघ के प्रदेशाध्यक्ष कमलेश्वर सिंह ने आंदोलन को सफल बनाने को समस्त शिक्षक (एलबी) संवर्ग से अपील की है। उन्होंने कहा कि आंदोलन से किसी वर्ग विशेष को समयमान वेतनमान का लाभ नहीं मिलेगा, बल्कि 1998 से नियुक्त उन समस्त शिक्षकों को मिलेगा, जो एक ही पद में विगत 20 वर्षों से कार्य कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि वर्तमान कांग्रेस सरकार के कैबिनेट मंत्री टीएस सिंहदेव के संयोजक में गठित चुनाव घोषणा पत्र में यह वचन पत्र जारी किया गया है कि सरकार गठन के बाद 1998 से नियुक्त शिक्षाकर्मियों को जो वर्तमान में स्कूल शिक्षा विभाग में संविलियन हो गए हैं। अभी भी एक ही पद में कार्य कर रहे हैं, उन्हें क्रमोन्नाति समयमान वेतनमान में उधातर वेतनमान का वेतन बैंड एवं ग्रेड पे दिया जायएगा।

सहायक शिक्षक फेडरेशन का कहना है कि घोषणा पत्र अनुसार राज्य सरकार के जिन कर्मचारियों को अब तक न तो पदोन्नाति मिली है और न ही क्रमोन्नाति का लाभ। इन्हें पहले पदोन्नाति और क्रमोन्नाति देने की कार्यवाही की जानी चाहिए थी, लेकिन स्कूल शिक्षा विभाग अधिकारी आनलाइन क्लास से लेकर बूलतू के बोल, लाउडस्पीकर से पढ़ाई, पारा मोहल्ला की पढ़ाई की शत-प्रतिशत सफलता के लिए शिक्षक (एलबी) संवर्ग पर निर्भर रहेंगे और अपने विभाग के शिक्षकों को एक नहीं तीन-तीन पदोन्नाति और समयमान वेतनमान में उधातर वेतनमान का लाभ देंगे। राज्य सरकार को गठन हुए दो वर्ष पूर्ण हो गए लेकिन अपने घोषणा पत्र को अमल में नहीं लाए। इससे से परेशान होकर एक लाख 50 हजार सहायक शिक्षक (एलबी), शिक्षक(एलबी) एवं व्याख्याता (एलबी) 28 अक्टूबर 2020 को फेडरेशन के अपील पर बूढ़ा तालाब से कोविड -19 के मानकों का पालन करते हुए मुख्यमंत्री निवास तक मौन रैली निकालेंगे, जिसका व्याख्यता (एलबी) संघ ने समर्थन करते हुए अधिक से अधिक साथियों को आंदोलन में शामिल होने की अपील की है

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस