राजनांदगांव (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कोरोना काल में राजस्व संबंधी प्रकरणों के निपटारे में देरी से कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा नाराज हैं। लोगों को सीमांकन व नक्शा आदि के कामों में देरी को लेकर फटकार भी लगाई। कई क्षेत्र में तो तहसीलदारों के डिजिटल साइन की वजह से डायवर्सन की प्रक्रिया भी कई दिनों से अटके हुए हैं। राजस्व अधिकारियों की बैठक लेकर लंबित प्रकरणों में तेजी लाने के सख्त निर्देश दिए। उन्होंने राजस्व प्रकरणों की समीक्षा करते हुए लंबित प्रकरणों पर गहरी नाराजगी जाहिर की और कहा कि इन प्रकरणों का निराकरण जल्द ही किया जाए। जिले का राजस्व अमला इस कार्य को गंभीरता से करे। उन्होंने कहा कि सीमांकन तथा अन्य कार्य के लिए नक्शा बहुत ही महत्वपूर्ण अभिलेख है। खराब हुए नक्शे का नवीनीकरण किया जाए।

कलेक्टर ने गिरदावरी कार्य की समीक्षा करते हुए कहा कि जिन स्थानों में कार्य शेष हैं, उन्हें जल्द ही पूरा किया जाए। पटवारी खेतों में जाकर गिरदावरी करे। गिरदावरी में धान के सही रकबे की एन्ट्री होनी चाहिए। अधिकारियों द्वारा इसकी जांच की जाए। पिछले वर्ष के रकबा और वर्तमान वर्ष के रकबा का मिलान जरूर करें। उन्होंने कहा कि जिन गांवों में गिरदावरी कार्य पूरा हो गया है तथा साफ्टवेयर में एंट्री हो गई है। उन पंचायतों में इसका प्रकाशन किया जाए। कोटवार के माध्यम से मुनादी करवा कर इसका व्यापक प्रचार-प्रसार भी किया जाए।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020