राजनांदगांव। छत्‍तीसगढ़ के राजनांदगांव में गंडई के बुंदेली में एक किसान के घर तीन आंखों वाले बछड़े ने जन्म लिया है। इसे देखने के लिए दूरदराज से लोग पहुंच रहे हैं। भगवान का चमत्कार मानकर लोगों ने बछड़े की पूजा शुरू कर दी है। भगवान शिव का रूप मानते हुए लोग बछड़े की पूजा कर रहे हैं। वहीं चढ़ावा भी चढ़ाया जा रहा है। यह बछड़ा राजनांदगांव जिले के गंडई में एक किसान के घर में पैदा हुआ। इसकी चर्चा धीरे-धीरे पूरे जिले के साथ ही पूरे देश में फैल गई।

पूजा-अर्चना के साथ चढ़ावा

ग्राम पंचायत बुंदेली निवासी हेमंत चंदेल के घर मकर संक्रांति के दिन बछड़े ने जन्म लिया। बछड़े को देख किसान भी आश्चर्यचकित हो गया, क्योंकि उसकी तीन आंखें हैं। बछड़े के माथे के बीचों-बीच आंख के जैसा आकार दिख रहा है जो यहां कौतुहल का विषय बना हुआ है। तीन आंख वाले बछड़े के जन्म की बात धीरे-धीरे पूरे जिले में फैल गई। लोग इसे चमत्कार मानने लगे हैं और दूरदराज से लोग इस तीन आंखों वाले बछड़े को देखने पहुंचने लगे हैं। किसान के घर पर लोगों का जमावड़ा लग रहा है। यही नहीं लोगों ने बछड़े का पूजा पाठ भी शुरू कर दिया है।

बछड़े में और भी खास बातें

किसान के घर जन्मे बछड़े में तीन आंखों के अलावा कई और विशेषताएं हैं। जो लोगों के लिए आश्चर्य का विषय हैं। दरअसल बछड़े के नाक में भी चार छिद्र हैं। उसकी पूंछ जटा के जैसे दिख रही। पूरी तरह लोग इस बछड़े को भगवान भोलेनाथ का स्वरूप मानने लगे हैं।वहीं किसान हेमंत चंदेल भी इसे देवी का आशीर्वाद मानकर पूजा पाठ कर रहे हैं। लोगों ने बछड़े को धार्मिक आस्था से जोड़ लिया है। वहीं जब पूरे घटनाक्रम की जानकारी पशु चिकित्सालय को मिली तो उन्होंने भी बछड़े को देखा। पशु चिकित्सकों ने बताया की भ्रूण विकसित नहीं होने के कारण इस तरह का बछड़ा पैदा हुआ है। हालांकि लोग इसे चमत्कार मान रहे हैं, लेकिन चमत्कार जैसा कुछ नहीं है।

Posted By: Kadir Khan

NaiDunia Local
NaiDunia Local