राजनांदगांव (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कोरोना की महामारी इस बार फिर शादियों के शुभ मुहूर्तों पर भारी पड़ रही है। ऐन शादी सीजन में लाकडाउन लगने से लोग दोबारा परेशान हो गए हैं। बीते वर्ष भी कोरोना के ग्रहण ने सैंकड़ों शादियों पर रोक लगा दी थी। इस साल भी कोरोना की दूसरी लहर वैवाहिक आयोजन की तैयारी पर भारी पड़ रही है। हालांकि प्रशासन ने विवाह कार्यक्रम में 50 लोगों के शामिल होने की छूट दे रखी है, लेकिन बढ़ते संक्रमण और लगातार हो रही मौतों के चलते लोग विवाह आयोजन करने से भी डर रहे हैं। इस माह की 22 तारीख से शादियों का शुभ मुहूर्त है, पर इससे पहले 13 से 18 अप्रैल के बीच भी दर्जनों शादियां हैं। इस बीच जिले में लाकडाउन लगने से शादी की तैयारियों में जुटे लोगों की मुश्किलें बढ़ गई है। शादी की अनुमति के लिए शहर के लोक सेवा केंद्रों में रोजाना आवेदन देने के लिए लोगों की भीड़ भी जुट रही है। लंबी कतारें लग रही हैं। शादी घर में कोरोना प्रोटोकाल का सख्ती से पालन करने की शर्त पर ही अनुमति दी जा रही है। गंभीर बात यह है कि अगर शादी वाले घर में किसी एक में भी कोरोना का लक्षण मिला तो विवाह आयोजन में शामिल सभी लोगों की हिस्ट्री ट्रेसिंग करने में स्वास्थ्य विभाग का पसीना छूट सकता है।

लाकडाउन ने बढ़ाई परेशानी

ऐन शादी सीजन में जिले में नौ दिनों का लाकडाउन लगा है। किराना से लेकर सब्जी-अनाज और अन्य सभी दुकानें बंद हैं। ऐसे में लोग शादी के लिए जरूरी खरीदी तक नहीं कर पाएंगे। हालांकि ज्यादातर लोगों ने पहले से भी खरीदारी कर ली होगी, लेकिन लाकडाउन में बरात जाने-आने में दिक्कत हो सकती है। ऐसा इसलिए क्योंकि दूसरे जिले में जाने के लिए एसडीएम से अनुमति लेनी होगी। बिना ई-पास के अन्य जिलों में जाने की अनुमति नहीं है। इस वजह से भी लोग परेशान हो गए हैं।

भवन बुक, पर संचालक कर रहे आनाकानी

शादियों के लिए लोगों ने पहले ही भवन बुक करा लिए हैं। लेकिन अब भवन संचालक लाकडाउन अवधि में वैवाहिक आयोजन को लेकर आनाकानी कर रहे हैं। ऐसे कई लोग शादी की तारीख आगे बढ़ाने में लगे हैं। वहीं कुछ लोग 50 से कम लोगों के बीच वैवाहिक कार्यक्रम करने की तैयारी कर रहे हैं।

दस लोग ही जा सकेंगे बरात

विवाह के आयोजन में लड़का और लड़की पक्ष से कुल 50 लोग ही शामिल हो सकते हैं। वहीं बरात में केवल दस लोगों के जाने की अनुमति है। इससे अधिक लोगों के जाने की अनुमति नहीं है। एसडीएम मुकेश रावटे ने कहा कि शादी के लिए अनुमति जरूरी है। बरात के लिए भी ई-पास जारी किया जा रहा है। केवल 10 लोग ही बरात जा सकेंगे। नियमों का उल्लंघन करने वालों पर अर्थदंड के अलावा कानूनी कार्रवाई भी की जाएगी।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags