राजनांदगांव (नईदुनिया प्रतिनिधि)। घुमका ब्लाक के चंवरढाल मिडिल स्कूल में नाबालिग छात्रा से दुष्कर्म के मामले में पुलिस ने आरोपित शिक्षक दुर्गेश यादव को जेल तो भेज दिया है, लेकिन कई शिक्षकों पर इस मामले को दबाने का आरोप है। कई शिक्षकों व कर्मचारियों की भूमिका पर सवाल उठाते हुए ग्रामीण शिकायत भी कर चुके हैं।

मामले की जांच के लिए शिक्षा विभाग ने एक टीम भी बनाई है, लेकिन पखवाड़ेभर बाद भी विभागीय जांच का कोई पता नहीं है। इससे शिक्षा विभाग कठघरे में आ गया है। जिला शिक्षा अधिकारी

एचआर सोम ने कहा कि जांच रिपोर्ट अभी नहीं आई है। जांच रिपोर्ट आने के बाद उच्च अधिकारियों के निर्देश पर कार्रवाई की जाएगी।

माहभर पहले की घटना : चंवरढाल मिडिल स्कूल में नाबालिग छात्रा से दुष्कर्म का मामला बीते 22 जनवरी का है। आरोपित शिक्षक दुर्गेश यादव ने नाबालिग छात्रा को नोट्स ले जाने के बहाने स्कूल में बुलाया था। स्टाफ रूम में नाबालिग छात्रा को अकेले पाकर आरोपित शिक्षक ने उसके साथ जबरदस्ती की।

छात्रा जब स्कूल से रोते हुए बाहर निकली तो ग्रामीणों ने शिक्षक को घेरकर पूछताछ की। दूसरे दिन मामले की जानकारी मीडिया के माध्यम से सामने आई तब पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपित शिक्षक को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

वर्जन

जांच अभी पूरी नहीं हुई है। आरोपित शिक्षक के स्कूल में पदस्थ सहकर्मी शिक्षकों का बयान नहीं लिया गया है। बीआरसी का भी बयान लिया जाएगा। जांच टीम को निष्पक्ष जांच के लिए कहा गया है, इसलिए देरी हो रही है। जांच में जो भी दोषी पाया जाएगा, उन पर कार्रवाई की जाएगी। -एचआर सोम, डीइओ

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags