राजनांदगांव। बिजली कंपनी की कैलाश नगर स्थित एटीपी मशीन को काटकर 10 लाख रुपये चुराने वाले आरोपित पूर्व ठेकाकर्मी व उसके साथी को पुलिस ने मंगलवार को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। वहीं चोरी की रकम आठ लाख 65 हजार रुपये को बरामद कर लिया गया है। चोरी की वारदात को अंजाम देने वाला पूर्व ठेकाकर्मी है। बिजली बिल भुगतान की कनेक्शन राशि करीब 10 लाख रुपये एटीपी मशीन में थी। 22 मई की रात पूर्वठेकाकर्मी डोंगरगांव के गातापायली निवासी 28 वर्षीय राकेश कुमार साहू ने अपने साथी तुलसीपुर वार्ड 17 निवासी 24 वर्षीय दीपांशु महोबिया के साथ मिलकर एटीपी मशीन को काटकर लाकर में रखे 10 लाख उड़ा ले गए थे। एटीपी मशीन से 10 लाख की चोरी होने के बाद कंपनी के अधिकारियों में हड़कंप मच गया। कंपनी के अधिकारी आनन-फानन में इसकी जानकारी उच्चाधिकारियों के साथ पुलिस को दी।

हाथ में लगे जख्म ने खोला राजः बिजली कंपनी की एटीपी मशीन से 10 लाख चोरी होने अधिकारियों के होश उड़ गए थे। पुलिस ने कैलाश नगर स्थित स्थाई, अस्थाई व ठेका में काम करने वाले कर्मचारियों की सूची बनाई। सूची बनाने के बाद सभी को बुलाकार पूछताछ की गई। पूछताछ के दौरान पूर्व ठेकाकर्मी राकेश कुमार साहू के हाथ में जख्म के निशान मिले। पुलिस ने जख्म के संबंध में जानकारी ली, तो राकेश गोलमोल जवाब देने लगा। सख्ती बरतने पर राकेश टूट गया और अपने साथ दीपांशु महोबिया के साथ मिलकर चोरी की वारदात को अंजाम देना स्वीकार किया। पुलिस ने एटीपी मशीन को काटने में प्रयुक्त कटर मशीन, हैमर, व नकद राशि को बरामद कर लिया है।

कंपनी के अधिकारियों की दिखी लापरवाहीः एटीपी मशीन में रोजना साढ़े तीन से चार लाख रुपये बिजली बिल भुगतान की राशि कलेक्शन होती है। रोजना कलेक्शन राशि को बिजली कंपनी के अधिकारियों को लेना होता है। लेकिन अवकाश के चलते अधिकारियों ने बिजली बिल भुगतान की कलेक्शन राशि को एटीपी मशीन में ही रख दिए थे, जो कंपनी के अधिकारियों की लापरवाही को उजागर करता है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close