राजनांदगांव । भादो माह के तीसरे दिन झड़ी के साथ मानसून की वापसी हुई। देर रात को रिमझिम वर्षा के बाद रविवार को सुबह से लगातार हल्की वर्षा हुई। बीते 24 घंटे में लगभग 28 मिमी बारिश दर्ज की गई।

लगातार वर्षा से तीन बैराफों से पानी छोड़े जाने के बाद शिवनाथ नदी का जल स्तर एक बार फिर से बढ़ने लगा है। पूरे दिन आसमान में बादल छाए रहे। इस कारण मौसम में एक बार फिर से ठंडकता आ गई। अधिकतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विभाग के अनुसार बंगाल की खाड़ी में बना कम दबाव का क्षेत्र अभी अगले कुछ दिनों तक इसी तरह बना रह सकता है। चार दिन की सुस्ती के बाद मानसून रविवार से फिर सक्रिय हो गया। सुबह बूंदाबांदी के बाद दोपहर में तेज बारिश हुई। देर शाम तक रूक-रूककर बादल बरसता रहा। यह भादो माह की पहली बारिश है। इसके पहले शनिवार शाम से रात तक हल्की बारिश हुई थी। इसी के साथ जिले में अब तक इस मानसून वर्ष में हुई बारिश का आंकड़ा लगभग 850 मिलीमीटर पर पहुंच गया है।

छलके बैराज, छोड़ा गया 60 हजार क्यूसेक पानी

वनांचल में लगातार हो रही बारिश से तीन बैराजों से पानी एक बार फिर छलकने लगा है। बढते जल आवक को देखते हुए तीन बैराजों से रात सवा आठ बजे तक 60 हजार क्यूसेक पानी बहाना शुरू किया गया। जल संसाधन विभाग के अनुसार मोंगरा में वर्तमान में 90 प्रतिशत जलभराव होने के बाद वहां से 32 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है। घूमरिया नाला बैराज में भी 90 प्रतिशत पानी भरा है। वहां से दस हजार क्यूसेक पानी नदी में बहाया जा रहा है। इसी तरह सूखानाला बैराज से भी 17 हजार क्यूसेक पानी नहर के माध्यम से बहाया जा रहा है। वहां वर्तमान में 90 प्रतिशत जलभराव है। बताया गया कि तीनों बैराजों जल आवक बढते क्रम में है। स्थिति अनुसार पानी छोड़े जाने की मात्रा बढ़ाई जा सकती है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close