राजनांदगांव। जिले के थाना गातापार ग्राम खम्हारडीह से जंगल रास्ते में छुपा कर रखे गए डम्प को पुलिस फोर्स ने बरामद किया। नक्सलियों द्वारा सुरक्षाबलों को नुकसान पहुंचाने की नीयत से विस्फोटक एवं आइईडी (IED) बनाने की सामग्री तथा नक्सल साहित्य छुपा कर रखा गया था। आईटीबीपी टीम, डीआरजी, सीएएफ के जवान, बीडीएस टीम की सयुक्त कार्यवाही से इस डम्प को बरामद किया गया।

दरअसल, जनता एवं पुलिस के बीच आपसी सहयोग एवं विश्वास को सुदृढ़ करने सिविक एक्शन कार्यक्रम का आयोजन करने पुलिस फोर्स क्षेत्र में कार्डन की कार्यवाही कर रहे थे। इसी दौरान ग्राम खम्हारडीह व कौहाबहरा के मध्य के पास जंगली रास्ते में सुरक्षा बल को जमीन के अंदर नक्सलियों का एक डम्प गड़ा हुआ मिला। जिसकी सूचना मौके पर सक्षम अधिकारी द्वारा ज़िला मुख्यालय को दिया गया। वहीं सुरक्षागत करणों से पुलिस कप्तान द्वारा तत्परता पूर्वक बीडीएस टीम, थाना प्रभारी गातापार उप निरीक्षक जीतेन्द्र डहरिया के हमराह तत्काल रवाना किया गया। पुलिस फोर्स ने सावधानीपूर्वक डम्प को निकाला।

ये वस्तुएं हुई बरामद

विस्फोटक गन पाउडर सहित लोहे के छर्रे, आइईडी (IED) बनाने में उपयोग किए जाने वाले फ़्लैश के साथ वायर, स्विच बटन, एम सिल, एवं नक्सल साहित्य बरामद हुआ।

सर्चिंग के दौरान मिली कामयाबी

पुलिस महानिरीक्षक, दुर्ग क्षेत्र, दुर्ग, डा. आनंद छाबड़ा एवं पुलिस अधीक्षक अंकिता शर्मा के कुशल मार्गदर्शन में लगातार नक्सल विरोधी अभियान चलाये जा रहे है। इसी कड़ी में आज पुलिस कैम्प मलैदा की आईटीबीपी एवं डीआरजी खैरागढ़ की संयुक्त टीम एसी संतोष कुमार सिंह संयुक्त कार्रवाई में बड़ी सफलता जंगल में सर्चिंग के दौरान मिली। इस कार्रवाही में एसी संतोष कुमार सिंह आईटीबीपी मलैदा, थाना प्रभारी गातापार एसआई जीतेन्द्र डहरिया, एसआई शक्ति सिंह, एपीसी पटेल प्रभारी बीडीएस टीम राजनांदगांव, नक्सल सेल खैरागढ़ प्रभारी एएसआई पूरी, राजनांदगांव एचसी गोविंद साहू, सर्चिंग में शामिल रहे। वहीं जिला पुलिस बल, बीडीएस टीम राजनांदगांव एवं आईटीबीपी के अधिकारी एवं डीआरजी जवानों का इसमें विशेष योगदान रहा।

Posted By: Abhishek Rai

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close