राजनांदगांव(नईदुनिया प्रतिनिधि)। देशभर के विभिन्ना राज्यों में फैले कोरोना संक्रमण को देखते हुए रेलवे स्टेशन में रेल यात्रा करने वाले यात्रियों के लिए 72 घंटे के भीतर का कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य किया गया है। वहीं स्टेशन परिसर में भी कोरोना जांच की शुरुआत की गई है।

कोरोना संक्रमण के बीच किए गए लॉकडाउन के चलते बस अभी बंद हैं, वहीं लोग अब रेल यात्रा कर रहे हैं। ऐसे में एक राज्य से दूसरे राज्य आने जाने वाले रेल यात्रियों से कोरोना वायरस के फैलने का खतरा है, जिसे देखते हुए स्थानीय रेलवे प्रशासन के सहयोग से राजनांदगांव रेलवे स्टेशन में पंजीयन केंद्र बनाया गया है। जहां अन्य राज्यों से रेल यात्रा का लौटने वाले रेल यात्रियों और उनके गंतव्य की जानकारी ली जा रही है। रेल यात्रा करने वाले यात्रियों को 72 घंटे के भीतर का आरटी पीसीआर कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट दिखाने पर ही प्रवेश दिया जा रहा है। जिन यात्रियों के पास कोरोना जांच रिपोर्ट नहीं है उनकी जांच रेलवे स्टेशन परिसर में ही की जा रही है और जांच रिपोर्ट आने तक उन्हें होम क्वारंटाइन भी किया जा रहा है।

राजनांदगांव रेलवे स्टेशन मास्टर आरके बर्मन का कहना है कि जिनके पास कोरोना रिपोर्ट नहीं है उन्हें क्वॉरेंटाइन किया जा रहा है। वहीं नगर निगम के सहायक अभियंता संजय ठाकुर ने कहा कि रेलवे स्टेशन परिसर में बेरिकेटिंग किया गया है, ताकि रेल यात्री का पंजीयन किया जा सके। अब तक रेल यात्रा कर जिले में प्रवेश करने वाले रेल यात्रियों की कोरोना वायरस रिपोर्ट देखने की व्यवस्था नहीं की गई थी, वहीं जिले में

बढ़ते कोरोना वायरस के बीच भी बड़ी संख्या में प्रवासी मजदूर व अन्य लोग विभिन्ना राज्यों से राजनांदगांव प्रवेश कर चुके हैं। वहीं अब लॉकडाउन लगने के बाद रेलवे स्टेशन में यह व्यवस्था की गई है, ताकि अन्य राज्यों से आने वाले रेल यात्रियों की वजह से अब और कोरोना का विस्तार ना हो सके।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags