राजनांदगांव। मौसम की बेरूखी ने गर्मी और उमस के साथ बिजली का लोड बढ़ा दिया है। विद्युत लोड बढ़ने से अघोषित रूप से बिजली बार-बार गुल हो रही है। कई क्षेत्रों में वोल्टेज की समस्या भी गंभीर हो गई है। इसको लेकर आम उपभोक्ताओं के साथ किसानों में भी आक्रोश बढ़ गया है। बार-बार बिजली गुल होने से विद्युत उपकरणों से चलने वाला व्यापार तक प्रभावित हो रहा है, जिसके कारण व्यापारी वर्ग में भी नाराजगी है। बिजली की आंखमिचौली का कारण बढ़े लोड को बताया जा रहा है। बारिश के मौसम में गर्मी की तरह बिजली का लोड बढ़ गया है। इसके चलते विद्युत लाइन में ट्रिपिंग की समस्या आ रही है। जिलेभर में बिजली की आंखमिचौली व लो-वोल्टेज की समस्या है। विद्युत कंपनी के अधिकारियों की मानें तो किसी तरह अघोषित कटौती नहीं हो रही है। लोड बढ़ने के कारण विद्युत लाइन ट्रिप कर रहा है। फाल्ट ढूंढने के लिए ही सप्लाई बंद की जा रही है।

जिलेभर में बढ़ी समस्याः बिजली गुल की समस्या जिलेभर में बढ़ गई है। वनांचल के गांवों में बार-बार बिजली गुल हो रही है। डोंगरगढ़ क्षेत्र के किसान बिजली की कटौती और वोल्टेज की समस्या को लेकर विद्युत कंपनी के खिलाफ आंदोलन की चेतावनी तक दे चुके हैं। इसी तरह घुमका-पटेवा क्षेत्र में भी बिजली गुल की समस्या बढ़ी है। वर्तमान में बारिश नहीं होने के कारण किसान बोरवेल के भरोसे ही सिंचाई कर रहे हैं, लेकिन बार-बार बिजली गुल होने व वोल्टेज की समस्या के कारण किसानों का सिंचाई कार्य तक प्रभावित हो रहा है। सोमनी क्षेत्र में भी कटौती

जिला मुख्यालय से लगा ग्राम सोमनी का सब स्टेशन आसपास एरिया का सबसे बड़ा सब स्टेशन है। यहां से राजनांदगांव ब्लाक के अलावा दुर्ग जिले के गांवों में भी बिजली सप्लाई होती है। बड़ा क्षेत्र होने के कारण यहां भी बिजली का लोड काफी बढ़ गया है। पिछले पखवाड़ेभर से यहां विद्युत लोड बढ़ने से क्षेत्र के गांवों में बिजली गुल की समस्या बढ़ गई है। सब स्टेशन के जेई एके धनकर ने बताया कि विद्युत लोड बढ़ने के कारण दुर्ग जिले के ग्राम झोला व तिरगा गई विद्युत लाइन बार-बार ट्रीप हो रहा है। इसके कारण ही सप्लाई प्रभावित हो रही है। उन्होंने कहा कि सोमनी सेक्टर में एक और विद्युत उपकेंद्र की जरूरत है। तभी समस्या दूर हो सकती है। इसके लिए मांग भी की गई है।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close