महासमुंद। भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू की 58वीं पुण्यतिथि 27 मई को महासमुंद कांग्रेस भवन में मनाई गई। पंडित नेहरू ने गांधी के नेतृत्व में स्वतंत्रता संग्राम में सक्रिय रूप से भाग लिया एवं देश को आजादी दिलाने में जेल यात्रा से लेकर अनेक आंदोलनों में अहम भूमिका का निर्वहन किया।

स्वतंत्रता के पश्चात भारत के प्रथम प्रधानमंत्री के रूप में पदस्थ होने के बाद 17 वर्षों से अपना सफलतम कार्यकाल में उन्होंने देश को मजबूत औद्योगिक ढांचा प्रदान किया। विज्ञानी रूप से देश को समृद्ध किया। हरित क्रांति को साकार किया।

गुटनिरपेक्षता की नीति को देश हित में सफलतापूर्वक लागू किया। जिसके कारण भारत पूरे विश्व में एक अलग तटस्थ गुट का निर्माण किया जिससे रूस अमेरिका के दबाव के बिना अपने देश के हितों के लिए, देश की उन्नति और विकास के लिए

कार्य किया।

विश्व बंधुत्व एवं शांतिपूर्ण सह अस्तित्व के सिद्धांतों को सुदृढ़ कर भारत को विश्व के नक्शे पर महत्वपूर्ण स्थान दिलाया। जब भारत अंग्रेजों के गुलामी से स्वतंत्र हुआ तो देश को संभालने की एक बहुत बड़ी जिम्मेदारी भारत के प्रधानमंत्री के रूप में पंडित नेहरू जी के ऊपर थी। भारत देश हर समान के लिए जब विदेशों पर निर्भर था। तब पूरे राष्ट्र को आत्मनिर्भर बनाने की जवाबदारी पंडित नेहरू के ऊपर थी जिस पर कड़ी मेहनत के पश्चात भारत को एक प्रगतिशील राष्ट्र बनाने में सफलता हासिल की। पूरे विश्व में भारत एक शक्तिशाली राष्ट्र के रूप में उभर के आगे आया।

बड़े-बड़े उद्योग और उद्योगों को संभालने के लिए इंजीनियर के लिए आइआइटी जैसे महाविद्यालय का निर्माण मेडिकल कालेजों का निर्माण के साथ-साथ देश को समृद्ध बनाने में बच्चों के प्यारे चाचा नेहरू ने अपना जीवन लगा दिया।

कांग्रेस भवन में कांग्रेसियो ने उनके योगदान को याद किया।

उक्त परिचर्चा में कांग्रेस कमेटी के जिलाध्यक्ष डा. रश्मि चंद्राकर,शहर अध्यक्ष खिलावन बघेल,वरिष्ठ कांग्रेसी दाऊलाल चंद्राकर, प्रभारी महामंत्री संजय शर्मा, सोमेश दवे, गुरमीत चावला, सुरेश द्विवेदी, राजू साहू, कविता तिवारी प्रदेश सचिव सेवादल, ब्रिजेन बंजारे सरपंच एल्डरमैन सुनील चंद्राकर, तुलसी साहू, प्रदीप चंद्राकर, हर्षित चंद्राकर, बसंत चंद्राकर, विनोद युगर, लखन चंद्राकर, मिंदर चावला, गिरजा शंकर चंद्राकर, मेहुल सूचक, सतीश कन्नौजे, खेमराज ध्रुव, लीलू साहू,निर्मल जैन, महिला अध्यक्ष रूपकुमारी ध्रुव, ताहिरा निशा, डिगन लाल साहू ने अपने-अपने विचार व्यक्त किये।आभार प्रदर्शन गुरमीत चावला ने किया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close