राजनांदगांव । एक दिन पहले जिले के 30वें कलेक्टर के रूप में पदभार संभालने वाले 2009 बैच के भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी डोमन सिंह की सर्वोच्च प्राथमिकता

गोधन व गोठान योजना होगी। इसमें वे अपनी टीम के साथ श्रेष्ठ प्रदर्शन का पूरा प्रयास करेंगे। हो सकता है, इसमें कुछ चुनौतियां भी आएंगी। उसका भी डटकर मुकाबला किया जाएगा। जल्द ही जमीनी स्तर पर काम दिखने लगेगा।

मंगलवार शाम को कलेक्टोरेट सभाकक्ष में मीडिया से चर्चा में कलेक्टर डोमन सिंह ने कहा कि किसी भी बड़ी योजना को सही ढंग से जमीनी स्तर पर लगाू करने में समय लगता ही है। प्रशासन का प्रयास होगा कि गोधन व गोठान योजना का लाभ सरकार की मंशा के अनुरूप सभी पात्रों को मिले। खाद संकट के बारे में कलेक्टर ने कहा कि बाकी सबी खाद तो पर्याप्त है। डीएपी की थोड़ी कमी है। वह भी लगातार आ रही है। एक-दो दिनों में एक और रेक आ जाएगी। उन्होंने कहा कि प्रशासन किसानों को डीएपी के बदले वैकल्पिक खाद के उपयोग के लिए प्रेरित किया जा रहा है।

लापरवाह अधिकारी छोड़े नहीं जाएंगेः कई विभाग प्रमुखों व अन्य अधिकारियों के निर्धारित समय पर कार्यालय नहीं आने व समय पर चले जाने संबंधी जन शिकायतों पर कलेक्टर

सिंह ने कहा कि समय का पालन करना होगा। लापरवाही बरतने वाले छोड़ नहीं जाएंगे। जल्द ही इस दिशा में सख्त कार्रवाई की जाएगी। कुछ दिनों में व्यवस्था सुधार ली जाएगी। कलेक्टर ने राज्य शासन की महत्वाकांक्षी योजनाओं, एसडीएम कार्यालयों में जनदर्शन, सभी कार्यालयों में सुबह 10 बजे राष्ट्रगान, बेसहारा मवेशियों के लिए कांजीहाउस में सभी जरूरी सुविधाएं समेत अन्य विषयों पर भी विस्तार से जानकारी दी। इसके पहले एडीएम सीएल मारकंडे ने नए कलेक्टर का मीडियाकर्मियों से परिचय कराया। इस दौरान उन्होंने बताया कि वे तीसरी बार जिले में पदस्थापित हुए हैं। इसके पहले वे एसडीएम, नगर निगम आयुक्त व अन्य पदों पर अपनी सेवाएं दे चुके हैं। जिले को उनके पुराने अनुभवों का पूरा लाभ मिलेगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close