खैरागढ़। झमाझम बारिश से शु्‌क्रवार को राजनांदगांव-कवर्धा हाइवे शहर के बस स्टैण्ड के पास ब्लाक हो गया। संगीत विश्वविद्यालय समेत आसपास के क्षेत्रों से निकलने वाले बारिश के पानी के जाने का नाला पूरी तरह चोक होने से राजनांदगांव कवर्धा मुख्य मार्ग में जैन दादा बाड़ी के पास दो फीट से अधिक ऊंचाई तक पानी भर गया। इससे आवाजाही पूरी तरह प्रभावित हो गई तो दूसरी ओर आसपास के दुकानों प्रतिष्ठानों के साथ टिकरापारा छोर के घरों में भी पानी भर गया। पानी निकलने वाला नाला इस दौरान कचरों और अन्य सामानों के फंसने से जाम हो गया था। जिससे इस जगह पर काफी ज्यादा पानी का भराव होने से बाढ़ नुमा स्थिति बन गई थी।

स्टेट हाइवे जाम होने के बाद इसकी सूचना आनन फानन में पालिका प्रशासन को दी गई। मौके पर पहुंचे पालिका कर्मियों ने मशक्कत कर जाम नाले को खोला इस दौरान नाले के मुहाने को तोड़कर बढ़ाया गया। जिसके बाद मुख्य मार्ग में जमा हुआ पानी निकला। इसके चलते लगभग घंटे भर तक स्टेट हाइवे से दो पहिया वाहनों की आवाजाही पूरी तरह बंद रही। पैदल और दुपहिया वाहन चालकों को इसके चलते विवि परिसर से होकर आनाजाना करना पड़ा।

संकरा हो गया नाला

खाली पड़ी जमीनों पर दुकान व मकान बनने के बाद इस इलाके से बारिश का पानी निकलने वाला नाला अब छोटा हो गया है। मुख्य रूप से इस जगह पर राजफेमली, संगीत विश्वविद्यालय, बस स्टैंड क्षेत्र का पानी भरता है। नाला छोटा और जाम होने से सुबह हुई घंटे भर की झमाझम बारिश से अफरा तफरी सी मच गई। सड़क पर दो फीट से अधिक पानी भरने से रास्ता जाम हो गया।

सावन के अंतिम दिनों में मानसून हो गया सुस्त

सावन माह का अब समापन होने जा रहा है। इसे समाप्त होने में अब मात्र छह दिन ही शेष रह गए हैं। शुरुआती दिनों में थोड़ी सक्रियता के बाद से मानसून की सुस्ती बनी हुई है। मानसून की वापसी का इंतजार कर रहे किसानों व लोगों को जोरदार बारिश वाले इस महीने में अब भी अनुकूल बारिश का इंतजार करना पड़ रहा है। बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बन ही नहीं पाने के कारण बारिश पूरी तरह से लगभग 20 दिनों से थमी हुई है।

हालांकि शुक्रवार शाम को कुछ देर तक हल्की बारिश जरूर हुई। मौसम विभाग के अनुसार शनिवार को प्रदेश के अधिकांश स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा होने या फिर गरज-चमक के साथ छींटे पड़ने की संभावना है। एक-दो स्थानों पर गरज-चमक के साथ भारी वर्षा भी होने की संभावना जताई गई है। हालांकि भारी वर्षा का क्षेत्र मुख्यतः दक्षिण छत्तीसगढ़ रहने की संभावना है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close