राजनांदगांव। Rajnandgaon Crime : दुष्कर्म पीड़िता नाबालिग के अपहरण मामले में पुलिस ने बस्तर की पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष व पूर्व सीएम डॉ रमन सिंह के ओएसडी रहे ओपी गुप्ता की पत्नी जवीता मंडावी को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तारी के बाद उसे न्यायालय में पेश किया गया, जहां से जमानत पर रिहा किए जाने की खबर है। गौरतलब है कि हाईप्रोफाइल मामले में पूर्व मुख्यमंत्री के ओएसडी रहे ओपी गुप्ता पर नाबालिग का दैहिक शोषण करने का गंभीर आरोप लगा । बाद में गुप्ता की गिरफ्तारी हुई।

इस बीच पीड़िता नाबालिग रहस्यमय ढंग से परिवार सहित गायब हो गई थी। इसकी रिपोर्ट उसके परिजनों द्वारा मोहला थाना में दर्ज कराए जाने के बाद तलाश शुरू हुई तो उसे ओडिशा से बरामद किया गया। इस मामले में आधा दर्जन लोगों के खिलाफ पुलिस ने अपहरण का केस दर्ज किया है।

यह है पूरा मामला

पुलिस के मुताबिक नाबालिग लड़की के साथ ही उसके माता-पिता और भाई के लापता हो जाने की रिपोर्ट चाचा ने मोहला थाना में दर्ज कराई थी। जांच में पीड़िता से अनाचार करने के आरोपी ओपी गुप्ता के कहने पर अपहरण किये जाने का खुलासा हुआ। मामले में पुलिस को पीड़िता और उसके परिवार के उड़ीसा में होने की जानकारी मिली। जिसके बाद पुलिस ने ओडिशा में आरोपियों के ठिकाने में दबिश देकर पीड़िता और उसके परिवार को बरामद किया।

मामले में पुलिस ने आरोपी श्रीराम चौधरी, राजेश शर्मा, सुमीत शर्मा, शत्रुघन सपहा, शिवरतन गुप्ता को मौके से गिरफ्तार किया था। जिन्हें न्यायालय ने जेल भेज दिया। वहीं इस मामले में ओपी गुप्ता की पत्नी व पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष जवीता मंडावी को सहअभियुक्त बनाया गया था। पुलिस उसे फरार होने की बात कहकर तलाश कर रही थी।

मोहला पुलिस ने धारा 363, 365, 120 बी, 34 भादवि और पाक्सो एकट की धारा 12 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर मामले की विवेचना शुरू की। पतासाजी के दौरान पुलिस ने ओडिशा नवागढ़ से पीड़ित परिवार को अपहरणकर्ताओं से छुड़ाकर घर लाया और मामले में चार आरोपित श्रीराम चौधरी, कार चालक शत्रुघन सपहा, राजेश शर्मा व सुमीत शर्मा को गिरफ्तार किया।

चारों आरोपितों को जेल भी भेज दिया गया है। पूछताछ में इन्हीं आरोपितों ने मामले में ओपी गुप्ता के भाई शिवरतन गुप्ता के शामिल होने का नाम उजागर किया था। जिसके बाद से पुलिस फरार आरोपित शिवरतन की खोजबीन कर उसे भी पकड़ा। हाईप्रोफाइल मामला होने से पुलिस इस मामले में लगातार सर्तकता बरत रही थी। अपहरण के मामले में जवीता मंडावी के शामिल होने की पुष्टि होने के बाद उसकी तलाश की जा रही थी। अंतत: उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

Posted By: Anandram Sahu

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना