राजनांदगांव। नईदुनिया प्रतिनिधि

पुरानी रंजिश भुनाने दोस्त की हत्या करने वाले आरोपित को कोर्ट ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। घटना छह मई 2018 की है। औधी के ग्राम बागडोगरी में रहने वाले रमेश कुमार मंडावी को उसके दोस्त मनेश कुमार ने डंडे से बेदम पिटाई की। पिटाई से रमेश कुमार बुरी तरह से घायल हो गया। रमेश को मरा सोच मनेश मौके से फरार हो गया।

शादी समारोह से लौट रहे थे

मृतक रमेश और आरोपित मनेश अपने दोस्तों के साथ रेंगाटोला में शादी समारोह में सम्मलित होकर वापस घर लौट रहे थे। अन्य दोस्त अपने-अपने घर लौट गए। लेकिन रमेश रातभर घर नहीं पहुंचा। सुबह परिजनों को रमेश घायल अवस्था में मिला। जिसे उपचार के लिए मानपुर के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में भर्ती कराया गया, जहां रमेश ने उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। मृतक के भाई की रिपोर्ट पर पुलिस ने अपराध पंजीबद्ध कर मामले की जांच में जुट गई। जांच के दौरान ग्रामवासी के कथन व सन्देह के आधार पर गांव के ही 24 वर्षीय मनेश कुमार कुमरे पिता श्रीकान्त कुमरे से पुलिस ने कड़ाई से पूछताछ की। पुलिस की सख्ती के बाद मनेश ने रमेश को शराब पिलाकर डंडे से पिटाई करने का अपराध कबूला। मृतक व आरोपित के बीच पुरानी रंजिश थी। द्वितीय अपर सत्र न्यायाधीश राजनांदगांव पीठासीन अधिकारी कान्त श्रीवास ने मामले में निर्णय घोषित कर आरोपी मनेश कुमार कुमरे को हत्या के आरोप में धारा 302 के तहत आजीवन कारावास और 500 रुपये का अर्थदंड, धारा 201 के तहत तीन वर्ष का सश्रम कारावास और 200 रुपये का अर्थदंड लगाया।

Posted By: