राजनांदगांव (नईदुनिया प्रतिनिधि)। नृत्य, गायन व अभिनय के माध्यम से अपनी बहुमुखी प्रतिभा का विदेश में जौहर दिखाने वाली लोक कलाकार लता खापर्डे का 54 वर्ष की आयु में निधन हो गया। आठ वर्ष की उम्र में दाउ रामचंद्र देशमुख के निर्देशन वाले प्रसिद्ध लोककला मंच चंदैनी से अपना कला का सफर शुरू करने वाली शहर के भरकापारा निवासी लता ने बुधवार रात को शहर के एक निजी अस्पताल में अंतिम सांस ली।

उन्होंने आमिर खान के निर्देशन वाली बालीवुड फिल्म पीपली लाइव में भाभी की यादगार भूमिका निभाई थी। नाचा कला को पूरे विश्व में प्रसिद्धि दिलाने वाले थियेटर कलाकार हबीब तनवीर के साथ वर्ष 1999 में जुड़कर लता ने अपने नृत्य व गायन के साथ ही अभिनय कला को बुलंदियों तक पहुंचाया। उन्होंने इसी दौरान जर्मनी व रूस में बेजोड़ प्रस्तुति के माध्यम से लोक कला के क्षेत्र में अलग पहचान बनाई। उनकी इसी प्रतिभा को देखते हुे केंद्रीय संस्कृति विभाग ने वर्ष 2011 में बिहाव गीत के रिसर्च पर उन्हें सीनियर फेलोशिप सम्मान दिया था।

उनकी गायकी से प्रभावित होकर आकाशवाणी ने उन्हें बी हाईग्रेड और बिलासपुर में बिलारसा सम्मान दिया गया था। आकाशवाणी रायपुर में उनके 400 छत्तीसगढ़ी गाने रिकार्ड हुए थे। वे कला की साधना में इतनी मगन रहीं कि विवाह भी नहीं किया। गुरुवार को दोपहर में भजन संगीत के साथ लोक कलाकारों ने उन्हें अंतिम विदाई दी। लखोली-मठपारा स्थित मुक्तिधाम में सामाजिक रीति-रिवाज के साथ अंतिम संस्कार किया गया।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close