राजनांदगांव (नईदुनिया न्यूज)। कलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा ने शनिवार को ग्राम अंजोरा और बघेरा के गोठान का निरीक्षण किया। उन्होंने ग्राम अंजोरा के गोठान में स्वसहायता समूहों की महिलाओं से चल रही विभिन्ना गतिविधियों की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि यह जिले का आदर्श मॉडल गोठान है। इस गोठान में अधिक से अधिक गतिविधियां होनी चाहिए। जिससे समूहों को आमदनी प्राप्त हो सके। उन्होंने विभिन्ना उत्पादों के विक्रय के लिए मार्केट लिंकेज करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। उन्होंने कहा कि गोठान में गोबर से पेंट बनाने की योजना प्रस्तावित है, इसकी व्यवस्था के लिए तैयारी की जाए। उन्होंने स्वसहायता समूह की महिलाओं से चर्चा की।

महिलाओं ने बताया कि गोठान में मशरूम का उत्पादन किया जा रहा है। अब तक 17 किलो मशरूम का विक्रय कर लिया गया है। वहीं गेंदा फूल, विभिन्ना प्रकार की सब्जी, पपीता जैसे फलों का उत्पादन किया जा रहा है। वहीं मछली पालन भी किया जा रहा है। जिससे आमदनी हो रही है। उन्होंने बताया कि गोठान की लोकप्रियता को देखते हुए अनेक लोग गोठान देखने के लिए यहां आते हैं।

कलेक्टर सिन्हा ने ग्राम बघेरा के गोठान में निर्माणाधीन कुक्कुटपालन और मशरूम शेड जल्द पूरा करने के निर्देश दिए। वहीं गोठान में साफ-सफाई और रंगरोगन का कार्य करें। स्वसहायता समूह के कार्य क्षेत्र और पशुओं के चरने का क्षेत्र अलग-अलग रखें। गोठान में छाया के लिए पेड़ लगाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि गोठान में चार से पांच गतिविधियां प्रारंभ होनी चाहिए। कुक्कुटपालन, मशरूम उत्पादन, मछलीपालन, सिलाई-कढ़ाई सहित विभिन्ना गतिविधियां प्रारंभ कराएं। जिससे समूहों को अच्छी आमदनी मिल सके। उन्होंने वहां पांच एकड़ क्षेत्र उत्पादित शहतूत के पौधे का निरीक्षण किया। इस अवसर पर जिला पंचायत सीईओ लोकेश चंद्राकर, जिला सहकारी केंद्रीय बैंक के महाप्रबंधक सुनील वर्मा, खाद्य अधिकारी भूपेंद्र मिश्रा, जनपद सीईओ एसके ओझा सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local