राजनांदगांव, नईदुनिया प्रतिनिधि। तीन गांवों में नवनिर्मित शासकीय हाईस्कूल भवनों के लोकार्पण की तैयारी राजनीतिक खींचतान के बीच अटक गई। सोमवार को स्कूल भवनों का उद्घाटन सांसद संतोष पांडे करने वाले थे। इससे एक दिन पहले प्रशासनिक अफसरों ने स्कूल भवनों को सील कर दिया। मामला सहसपुर दल्ली, खैरा व पुरैना का है। यहां हाईस्कूल भवन का लोकार्पण करने के लिए सरपंचों ने अतिथियों से समय लेकर कार्ड बंटवा भी दिया था।

कार्ड पर ज्यादातर भाजपा नेताओं का नाम होने से चिढ़े कांग्रेसियों ने कार्यक्रम के खिलाफ कलेक्टर से शिकायत की। इसके बाद लोकार्पण से एक दिन पहले ही अफसरों को भेजकर हाईस्कूल भवनों को सील करा दिया। डोंगरगढ़ विधायक भुनेश्वर बघेल के मुताबिक सरपंच ने बिना पूछे ही आमंत्रण कार्ड छपवा दिया इसलिए मैंने कलेक्टर से शिकायत की। कार्ड पर हमारे जनप्रतिनिधि और पदाधिकारियों के भी नाम नहीं हैं।

सहसपुर दल्ली सरपंच संतरात नगपूरे ने कहा कि स्कूल लोकार्पण के लिए सांसद संतोष पाण्डेय से समय लेकर आमंत्रण पत्र छपवाया है। फोन रिसीव नहीं करने की वजह से विधायक बघेल से अनुमति नहीं ले पाए थे। एसडीएम मुकेश रावटे ने बताया कि स्कूल भवन पीडब्ल्यूडी से हैंडओवर हुआ है या नहीं? इसकी सूचना नहीं आई है। शासकीय भवनों का लोकार्पण बिना प्रशासनिक स्वीकृति के नहीं किया जा सकता। इसके बाद भी गांव में पंचायत द्वारा लोकार्पण की तैयारी की जा रही थी। इस वजह से लोकार्पण कार्यक्रम को रद कराया गया है।

Posted By: Prashant Pandey