राजनांदगांव। राज्य सरकार की फ्री-होल्ड करने की घोषणा को लेकर व्यवसायियों में काफी उत्साह है। उत्साहित व्यवसायी नगर निगम की तैयारी पर नजर रखे हुए हैं कि कब तक किराये की दुकान पर उन्हें मालिकाना हक मिलेगा। लेकिन इससे पहले नगर निगम दुकानों का किराया व प्रीमियम राशि जमा नहीं करने वाले दुकानदारों की सूची बना रहा है। निगम के पास करीब 12 सौ दुकानें हैं। इसमें सवा दो सौ से अधिक दुकानें मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना की भी है। वहीं कांप्लेक्स की दुकानें भी है। इन दुकानों का किराया व अन्य शुल्क जमा नहीं करने वाले दुकानदारों को पहले बकाया राशि जमा करनी होगी। इसके लिए निगम बकायादारों की सूची अपडेट कर रही है, जिसके बाद बकायादारों से बकाया राशि वसूल की जाएगी।

दो सौ से ज्यादा बकायादारः निगम में बकायादारों की सूची काफी लंबी है। हालांकि कोरोना काल में जितने दुकानदारों ने शुल्क जमा नहीं किया था, उनमें से अधिकांश दुकानदारों ने राशि जमा कर दी है। इसके

बाद भी करीब दो सौ से अधिक बकायादार है। जिनसे निगम का दुकान का किराया व प्रीमियम की राशि वसूल करनी है। इनमें 60 से अधिक ऐसे भी बकायादार है, जिनसे निगम को डेढ़ करोड़ रुपये से अधिक की राशि वसूल करनी है। इन बड़े बकायादारों की सूची निगम ने बीते माह सार्वजनिक भी किया था।

नए दुकानों की पहले होगी नीलामी

शहर में निगम ने महावीर चौक के पास नई दुकानें बनाई है। फ्री होल्ड की प्रक्रिया पहले इन्हीं दुकानों से शुरू की जाएगी। इसको लेकर निगम का राजस्व अमला तैयारी में जुट गया है। महावीर चौक के अलावा जिन दुकानों की नीलामी नहीं हो पायी है। उन दुकानों की नीलामी भी फ्री होल्ड के तहत की जाएगी। जिले में खैरागढ़ नगर पालिका से फ्री होल्ड की शुरुआत भी हो चुकी है। इसके बाद अब नगर निगम में इसकी तैयारी तेज कर दी गई है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close