राजनांदगांव (नईदुनिया न्यूज)। जिले के प्रभारी सचिव डा. एस भारतीदासन ने शुक्रवार को जलजीवन मिशन के कामों की मौके पर जाकर समीक्षा की। कार्यों में लापरवाही पर उन्होंने गहरी नाराजगी जाहिर की। इस पर लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के एसडीओ व सब इंजीनियर को कारण बताओ नोटिस जारी करने कहा।

डा. दासन ने कहा कि अभियान चलाकर जल जीवन मिशन के अंतर्गत कार्य करने की आवश्यकता है। उन्होंने अमलीडीह में रूरल इंडस्ट्रियल पार्क का अवलोकन किया। साथ ही ग्राम मनकी में क्लोरीनेटर कक्ष, जल जीवन मिशन के कार्य, शासकीय पदुमलाल पुन्नाालाल बख्शी स्कूल, ग्राम देवादा में जल जीवन मिशन के कार्य, अमलीडीह गोठान का निरीक्षण किया। जिले के प्रभारी सचिव डा. एस भारतीदासन ने शुक्रवार ग्राम मनकी में क्लोरीनेटर कक्ष, जल जीवन मिशन के कार्य, शासकीय पदुमलाल पुन्नाालाल बख्शी कन्या स्कूल, ग्राम देवादा में जल जीवन मिशन के कार्य, अमलीडीह गोठान का निरीक्षण किया। उन्होंने क्लोरीनेटर कक्ष के अवलोकन के दौरान पानी को स्वच्छ करने की प्रक्रिया के संबंध में जानकारी ली। उन्होंने जल जीवन मिशन के तहत किए जा रहे कार्यों के जमीनी स्तर पर क्रियान्वयन की जानकारी लेने के लिए ग्रामीणों से बात की। उन्होंने ग्रामवासियों के घर में जाकर पानी की मात्रा एवं प्रेशर तथा क्लोरीन की मात्रा की जांच की। ग्रामवासियों ने शिकायत करते हुए बताया कि दो दिन से जल की आपूर्ति नहीं हो रही है। भारतीदासन ने जल जीवन मिशन के कार्यों में लापरवाही होने पर गहरी नाराजगी जाहिर की। उन्होंने एसडीओ लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी एवं सब इंजीनियर को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। उन्होंने एसडीओ को जल आपूर्ति में आने वाली तकनीकी समस्या को तत्काल दूर करने के निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान सचिव ने ग्राम मनकी में गोठान के लिए प्रस्ताव बनाने के निर्देश दिए। जिले में जल की आवश्यकता, गुणवत्ता परीक्षण का जायजा लेने के लिए एनएबीएल से मान्यता प्राप्त जिला जल परीक्षण प्रयोगशाला पहुंचे। वहां उन्होंने केमिकल एनालिसिस स्टोर रूम, आर्सेनिक एनालिसस रूम का निरीक्षण किया। जिले में आर्सेनिक प्रभावित गांवों में जल के लिए वैकल्पिक व्यवस्था करें। आर्सेनिक वाले स्त्रोतों को बंद करने के निर्देश दिये। अभियान चलाकर जल जीवन मिशन के अंतर्गत कार्य करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि पेयजल एवं निस्तारी के लिए पानी की पर्याप्त व्यवस्था होनी चाहिए। प्रभारी सचिव ने ग्राम देवादा में निरीक्षण करने के दौरान नल कनेक्शन बिना टोटी के पाये जाने पर नाराजगी व्यक्त की एवं सरपंच को टोटी लगाने तथा पंप जब्त करने का भी निर्देश दिया। इस दौरान कलेक्टर डोमन सिंह, जिला पंचायत सीईओ श्री गजेंद्र ठाकुर उपस्थित रहे।

सब्जियों की बिक्री करने के साथ ही हिसाब भी रखने को कहा

गोधन न्याय योजना अंतर्गत गांव के सभी पशुपालकों का पंजीयन कराने के निर्देश दिए। उन्होंने सामुदायिक बाड़ी का अवलोकन किया। इस दौरान उन्होंने समूह की महिलाओं से कहा कि सब्जियों की बिक्री करने के साथ ही हिसाब भी रखें। उद्यानिकी विभाग के अधिकारियों से कहा कि बाड़ी में किसी भी तरह के कीट एवं रोग होने पर इसका उपचार करें। उन्होंने बाड़ी में भिंडी, सेम, बरबट्टी की फसल का अवलोकन किया। उन्होंने बायोक्लाक पद्धति द्वारा किए जा रहे मस्त्य पालन एवं मशरूम उत्पादन का निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि इसे आगे बढ़ाए। समूह की महिलाओं से उन्होंने गौमूत्र का परीक्षण करने के लिए कहा। महिलाओं ने किट के माध्यम से गौमूत्र का परीक्षण किया। जिसमें उन्होंने का पानी की मात्रा के बारे में जानकारी दी।

बकरीपालन, मुर्गीपालन एवं पशुपालन की प्रशंसा

प्रभारी सचिव डा. भारतीदासन ने ग्राम अमलीडीह में रूरल इंडस्ट्रियल पार्क का अवलोकन किया। वहां उन्होंने डबल स्टोरी बिल्डिंग में किए जा रहे बकरीपालन एवं मुर्गीपालन की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि मुर्गी पालन से महिलाओं को अच्छी आय हो रही है। व्यापक पैमाने पर किए जा रहे मुर्गीपालन के बाद बिक्री पर ध्यान देने के लिए कहा। गोठान में साहीवाल एवं गीर, थारपारकर नस्ल की गायों का पालन किया जा रहा है। समूह की महिलाओं ने बताया कि प्रतिमाह पशुपालन से लगभग 50 हजार रूपये की आय हो रही है। रोज यहां से दूध डोंगरगांव में डेयरी में भेजा जाता है। प्रभारी सचिव ने कहा कि शासन की योजनाओं के तहत गौठानों में पशुपालन को बढ़ावा दें। पशुपालन विभाग समूह की महिलाओं को मार्गदर्शन देने के साथ ही मदद करें।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close