राजनांदगांव। निजी स्कूलों की तर्ज पर सरकारी अंग्रेजी माध्यम स्कूलों में पढ़ाई शुरू हो गई है। शिक्षा का स्तर व शिक्षकों की योग्यता जांचने अफसर अब स्कूल पहुंचने लगे हैं। स्कूल शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव डा.आलोक शुक्ला मंगलवार को अचानक सर्वेश्वरदास विद्यालय पहुंचकर अध्यापन कार्य की जानकारी ली।

साथ ही शिक्षकों की योग्यता भी जांची। उन्होंने विद्यालय में उपस्थित बच्चों से बातचीत कर शाला के बच्चों से अध्ययन-अध्यापन के बारे में फीडबैक लिया । तत्पश्चात प्रमुख सचिव ने स्वयं विभिन्ना कक्षाओं में विद्यार्थियों के बीच उपस्थित रहकर शिक्षकों द्वारा कराए जा रहे अध्यापन का स्तर जांचा और विद्यालय के उत्कृष्ट संचालन व्यवस्था पर प्रसन्नाता व्यक्त करते हुए इस विद्यालय के बेहतर प्रबंधन एवं संचालन के लिये जिला शिक्षा अधिकारी एचआर सोम, डिप्टी कलेक्टर दिप्ती वर्मा सहित सर्वेश्वर दास विद्यालय की प्राचार्य आशा मेनन की सराहना की।

व्यवस्था देख गदगद हुए अफसर

सरकारी अंग्रेजी माध्यम स्कूलों में व्यवस्था देख अफसर गदगद हो गए। अफसरों ने स्कूलों के शिक्षकों को बच्चों को विशेष ध्यान रखने के भी निर्देश दिए। साथ ही कोविड गाइड लाइन का पालन भी करने कहा ताकि शाला में किसी भी स्थिति में कोरोना के संक्रमण से बचा जा सकें। उन्होंने स्पष्ट किया कि यदि किसी भी स्कूल में दो कोरोना संक्रमण के केस मिले तो पूरी की पूरी स्कूल कंटेंटमेंट जोन में तब्दील कर दी जाएगी।

इस दौरान स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण एवं मिशन संचालक एनआरएचएम संयुक्त सचिव डा. प्रियंका शुक्ला, कलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा, जिला शिक्षा अधिकारी एचआर सोम, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डा. मिथलेश चौधरी, डिप्टी कलेक्टर दिप्ती वर्मा, एसडीएम मुकेश रावटे, जिला जनसंपर्क अधिकारी डा. उषाकिरण, ननि आयुक्त डा. आशुतोष चतुर्वेदी, एपीसी समग्र शिक्षा सतीश ब्यौहरे मौजूद रहे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local