राजनांदगांव। राज्य पर्यटन मंडल की महत्वपूर्ण बैठक शुक्रवार को रायपुर में संपन्ना हुई। इसमें पर्यटन मंड़ल के अध्यक्ष अटल श्रीवास्तव उपाध्यक्ष चित्ररेखा

साहू सदस्य नरेश ठाकुर के साथ राज्य पर्यटन मंडल के सदस्य निखिल द्विवेदी भी शामिल हुए। निखिल ने जिले के मंडीपखोल गुफा, बैतालरानी घाटी व आमागढ़ गुफा को विकसित कर पर्यटन स्थल के रूप में स्थापित करने का प्रस्ताव रखा। इस पर बैठक में विस्तार से

चर्चा की गई।

बैठक से लौटकर सदस्य निखिल द्विवेदी ने बताया कि राजनांदगांव जिले के मंडीप खोल गुफा, बेतालरानी घाटी और आमागढ़ गुफा को विकसित करने का प्रस्ताव मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के समक्ष पहले ही रखा जा चुका है। अब इसे राज्य पर्यटन बोर्ड के समक्ष भी रखा गया। इस पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की ओर से सकारात्मक जवाब मिला है। जल्द ही पर्यटन बोर्ड के अधिकारी वहां पहुंचकर सर्वे कर अपनी रिपोर्ट

बोर्ड को सौपेंगे।

व्यापार-रोजगार दोनों में बढ़ावा मिलेगाः बताया गया कि अधिकारियों के साथ 16 मुख्य एजेंडा में रूपरेखा बनाई गई जिसमें मुख्यमंत्री का ड्रीम प्रोजेक्ट राम पथ वन गमन परिपथ चंदखुरी में माता कौशल्या मंदिर के कार्यो की समीक्षा की गयी। इसमे प्रदेश भर के भाजपा सरकार के समय से खंडहर पड़े मोटल औऱ होटल का विस्तार सहित पर्यटन स्थलों पर बेहतरीन सुविधाओ पर चर्चा हुई। बैठक में इस बात पर जोर दिया गया कि राज्य में जितना ज्यादा पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा, उतने ज्यादा रोजगार का सृजन होगा। छत्तीसगढ़ में पर्यटन की आपार संभावना है। पर्यटन को बढ़ावा मिलने से प्रदेश के लोगो को व्यापार और रोजगार दोनों में बढ़ावा मिलेगा।

वाहनो की व्यवस्था करवाई जाएगीः बताया गया कि सीतामढ़ी और कौशिल्या माता मंदिर, भगवान राजीव लोचन मंदिर के दर्शन के लिये दूर-दूर से लोग आ रहे हैं। पर्यटको एवं तीर्थयात्रियों के लिये राजिम पंचकोशी यात्रा के लिए वाहनो की व्यवस्था भी करवाई जाएगी।मंडल की बैठक में पर्यटन सचिव, पर्यटन वन मंडल सचिव, परिवहन सचिव, आबकारी सचिव, वित्त सचिव व रेलवे से डीआरएम के साथ अन्य अधिकारी कर्मचारी शामिल थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close