डोंगरगांव (नईदुनिया न्यूज)। शिवनाथ साहित्य धारा डोंगरगांव के सम्मानित संरक्षक और समीपस्थ ग्राम रेंगाकठेरा के निवासी राजीव यदु ने अंतरराष्ट्रीय निबंध स्पर्धा में प्रथम स्थान प्राप्त करके डोंगरगांव क्षेत्र का मान बढ़ाया।

विगत 40 वर्षों से साहित्य साधना में जुटे राजीव यदु साहित्य बिरादरी में प्रेम अरुणोदय के नाम से जाने जाते हैं। आप हिंदी ही नहीं अपितु छत्तीसगढ़ी साहित्य के भी सशक्त हस्ताक्षर हैं।

स्वामी अरुणोदय के लिए नवरात्रि उपलब्धि लेकर आया।

जैन महिला मंडल मुंबई महाराष्ट्र द्वारा सृजित तुभ्यं नमो परिवार के तत्वावधान में आयोजित आनलाइन अंतरराष्ट्रीय निबंध और भाषण प्रतियोगिता में स्वर्णिम भारत विषय पर लगभग 1500 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया। इसमें प्रथम स्थान प्राप्त कर स्वामी प्रेम अरुणोदय ने न केवल रेंगाकठेरा, डोंगरगांव, एराजनांदगांव बल्कि पूरे छत्तीसगढ़ प्रदेश का नाम भी रोशन किया है। निसंदेह यह शिवनाथ साहित्य धारा डोंगरगांव जिला राजनांदगांव के लिए गौरव का विषय है।

निबंध प्रतियोगिता के परिणाम आने के पश्चात चर्चा के दौरान स्वामी प्रेम अरुणोदय ने कहा कि इस 51 हजार रुपए पुरस्कार की प्राप्त राशि में से शिवनाथ साहित्य धारा डोंगरगांव को 10 हजार रुपये, श्री गणेश गौशाला गनेरी को 11 हजार रुपए तथा न्याय धर्म सभा हरिद्वार को 30 हजार रुपए देने के लिए वचनबद्घ हूं।

अनुकरणीय कदम

सचमुच में जब दुनिया में एक-एक पैसा को अपने हिस्से में करने के लिए मार काट मची हो, तब स्वामी प्रेम अरुणोदय का यह अति उदार हृदय मानव समाज के लिए प्रणम्य व स्तुत्य ही नहीं अपितु अनुकरणीय भी है। प्रथम स्थान प्राप्त करते ही डोंगरगांव और राजनांदगांव सहित क्षेत्र के सभी साहित्यकारों ने उज्जावल भविष्य की कामना करते हुए उन्हें बधाई व शुभकामनाएं प्रेषित किए हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस