राजनांदगांव (नईदुनिया प्रतिनिधि)। अनुकूल वर्षा के साथ सावन का महीना विदा हो गया है। शुक्रवार से भादो माह शुरू हो गया। पहला दिन सूखा रहा। बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र तो बना हुआ है, लेकिन इसके छत्तीसगढ़ की तरफ बढ़ने में एक-दो दिन का समय लग सकता है। यानी इस दौरान मौसम खुला रहने का अनुमान है। मौसम विभाग के अनुसार सोमवार से मानसून फिर से सक्रिय हो सकता है।

मानसून द्रोणिका उत्तर-पूर्व अरब सागर, नलिया, गुना, सतना, रांची, दीघा, और उसके बाद दक्षिण-पूर्व की ओर उत्तर-पश्चिम बंगाल की खाड़ी तक 1.5 किलोमीटर ऊंचाई तक विस्तारित है। एक निम्न दाब का क्षेत्र उत्तर बंगाल की खाड़ी में बनने की संभावना है तथा यह और ज्यादा प्रबल होने होने की संभावना है। इसके असर से 13 अगस्त को अधिकांश स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा होने या फिर गरज-चमक के साथ छींटे पड़ने की संभावना है। प्रदेश में एक-दो स्थानों पर गरज-चमक साथ

भारी वर्षा भी होने की संभावना है। हालांकि मानसून द्रोणिका को फिर से सक्रिय होने में एक-दो दिन लग सकता है।

फिर बढ़ने लगा तापमान

मौसम खुलते ही तापमान में एक बार फिर से बढ़ोतरी का दौर शुरू हो गया है। शुक्रवार को दिन का तापमान 30 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। यह सामान्य से दो डिग्री अधिक है। दो दिन पहले अधिकतम तापमान 22 डिग्री सेल्सियस पर आ गया था। इतना ही नहीं न्यूनतम तापमान भी सामान्य से अधिक पर जा पहुंचा है। बीती रात को तापमान 24.7 डिग्री दर्ज किया गया। शुक्रवार को रायपुर का तापमान 31.5, बिलासपुर में 29.6 व दुर्ग में दिन का तापमान 30.4 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया।

खेतों में माहभर के लायक पानी जमा

जिले में इस मानसून वर्ष में अब तक 815 मिलीमीटर वर्षा हो चुकी है। यह पिछले 10 वर्षों के औसत से 49 प्रतिशत अधिक है। सावन के अंतिम दिनों में हुई जोरदार वर्षा से खेल पहले ही लबालब भरे हुए हैं। किसानों के अनुसार इतने पानी से माहभर का काम चल जाएगा। इस बीच अगर हल्की बारिश भी हुई तो लाभकारी ही होगा। यही कारण है कि किसान अब कुछ दिनों तक मौसम खुला रहने की प्रार्थना कर रहे हैं। डोंगरगांव ब्लाक के ग्राम दिवानझटिया के किसान मुरली वर्मा ने बताया कि फिलहाल किसानों को पानी की जरूरत नहीं है। अभी वर्षा हुई तो नुकसान हो सकता है।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close