राजनांदगांव । शिक्षा के अधिकार के अंतर्गत निजी स्कूलों में बच्चों को पढ़ाने का सपना देख रहे पालकों की परेशानी कम होने का नाम नहीं ले रही है। अधिकारी-कर्मचारियों की हड़ताल ने दूसरी लाटरी के शेड्यूल को पूरी तरह से बिगाड़ कर रख दिया। दूसरे चरण की लाटरी दो अगस्त को निकलनी थी। लेकिन इसके पहले अधिकारी-कर्मचारियों ने अपनी मांगों को लेकर हड़ताल पर चले गए थे। जिसके चलते लाटरी की प्रक्रिया पूरी नहीं हो पाई है। पालक अब दूसरी लाटरी निकालने का इंतजार कर रहे हैं। बता दें कि शिक्षा के अधिकार के अंतर्गत जिले के 293 निजी स्कूलों में गरीब बच्चों के लिए 4309 सीटें आरक्षित हैं। पहले चरण की लाटरी में 2636 बच्चों को स्कूलों का आवंटन कर दिया गया है। पहले चरण की लाटरी में करीब 700 बच्चों को वेटिंग में रखा गया है। जिन्हें फिर से लाटरी में शामिल किया जाएगा। निजी स्कूलों में 1673 सीटें खाली पड़ी हुई है।

पढ़ाई में पिछड़ेंगे बच्चेः आरटीई के तहत पहले चरण की लटारी में 2636 बच्चों को स्कूलों का आवंटन कर दिया है। सभी बच्चों को स्कूल में प्रवेश मिल गया है। निजी स्कूलों में बच्चों की पढ़ाई भी शुरू हो गई है। पालक दूसरे चरण की लाटरी निकलने का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। लाटरी निकलने के बाद करीब 15 दिन प्रवेश प्रक्रिया चलेगी। जिसके चलते बच्चे पढ़ाई में पिछड़ेंगे।

सूने मकानों की रेकी कर चोरी करने वाले दो और आरोपित गिरफ्तार

राजनांदगांव। जिले के विभिन्ना थाना क्षेत्रों के साथ पड़ोसी जिला बालोद के गांवों में भी सूने मकानों की रेकी कर चोरी की वारदात को अंजाम देने वाले दो और आरोपितों को घुमका पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

बीते चार अगस्त को पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल ठाकुर ने पत्रकारवार्ता में आरोपितों का राजफाश किया था। पुलिस ने पहले ही पांच आरोपितों को जेल भेज दिया है। मुख्य आरोपित को रिमांड में लेकर पुलिस पूछताछ कर रही है। घुमका पुलिस ने दो आरोपितों से पूछताछ की, जिसमें आरोपितों ने मुख्य आरोपित मनीष अमोरिया के साथ मिलकर घुमका में भी चोरी करना स्वीकार किया।

आरोपितों ने जिले के विभिन्ना क्षेत्रों में नौ और बालोद जिले के पिनकापार व डोंगरगढ़ मेढ़ा में चोरी करना बताया। पिछले डेढ़ साल से लगातार आरोपित सोमनी, राजनांदगांव, घुमका, छुईखदान, मोहारा, डोंगरगांव, चिचोला क्षेत्र और बालोद जिलके के अर्जुंदा में रेकी कर चोरी की घटनाओं को अंजाम देते थे।

मुख्य आरोपित मनीष अमोरिया की निशानदेही पर पुलिस ने नौ तोला सोना, 150 तोला चांदी के जेवरात बरामद किए हैं। जिसकी कीमत साढ़े पांच लाख रुपये बताई गई है।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close