राजनांदगांव (नईदुनिया प्रतिनिधि)। आजादी के अमृत महोत्सव वर्ष पर जिले के जिन 75 तालाबों को अमृत सरोवर के रूप में विकसित करना है, उनमें से दो का काम पूरा हो गया है। 16 अन्य तालाबों में गहरीकरण व सुंदरीकरण का काम लगभग 75 प्रतिशत पूरा कर लेने का दावा किया जा रहा है। इन्हीं में से 15 सरोवरों में स्वतंत्रता पर तिरंगा झंडा फहराया जाएगा। इसके लिए प्रशासन ने सभी तैयारी लगभग पूरी कर ली है।

मानपुर ब्लाक के ग्राम करखेड़ा व फुलकोड़ों में अमृत सरोवर का काम पूरा हो चुका है। वहां इस बार पहली बार तिरंगा झंडा लहराने की तैयारी है। इसी तरह राजनांदगांव ब्लाक के ग्राम बघेरा, टूरीपार, मुरमुंदा, खैरागढ़ के देवरी, मदनपुर, सलघापट, शिकारीटोला, उरईडबरी, भरदाकला, करेला पुराना, डोंगरगढ़ ठाकुरटोला, डोंगरगांव कोकपुर, जारवाही, जटकन्हार व देवकट्टा के प्रस्तावित अमृत सरोवर में भी स्वतंत्रता दिवस पर संक्षिप्त समारोह का आयोजन किया जाएगा।

कुल 67 पर चल रहा कामः जल संरक्षण को बढ़ावा देने की दिशा में जिले में अमृत सरोवर निर्माण का कार्य तेजी से हो रहा है। अब तक 67 अमृत सरोवर आकार ले रहे हैं। हालांकि वर्षा के कारण वहां काम फिलहाल रूका हुआ है। अमृत सरोवर निर्माण कार्यों के अंतर्गत सभी अमृत सरोवर के लिए स्थानीय, स्वसहायता समूह, कृषक ग्रुप की पहचान

यूजर ग्रुप के रूप में करते हुए उनका अमृत सरोवर के अभियान में सहभागिता सुनिश्चित की गई है। ताकि यूजर ग्रुप निर्माण के पश्चात तालाबों का उपयोग आजीविका, कृषि कार्य के लिए करते हुए उसकी देख-रेख कर सकें।

आजादी से जुड़े लोग करेंगे शिलान्यासः अमृत सरोवर के निर्माण से मनरेगा के तहत श्रमिकों को कार्य मिला है। कलेक्टर डोमन सिंह ने कहा कि अमृत सरोवर निर्माण कार्यों में स्थानीय सहभागिता सुनिश्चित करते हुए शिलान्यास स्वतंत्रता सेनानी या उनके परिवार के सदस्य, बलिदानी के परिवार द्वारा या स्थानीय पद्म पुरस्कार प्राप्त व्यक्ति या वरिष्ठ सम्मानीय नागरिक द्वारा किया जाएगा। कार्य स्थल पर 15 अगस्त को ध्वजारोहण किया जाएगा। सरोवर निर्माण स्थल पर ध्वजारोहण करने वाले

सम्मानीय नागरिक के नेतृत्व में पौधारोपण कराया जाएगा।

शुरू से देर से चल रहा काम

आजादी के अमृत महोत्सव के तहत चयनित तालाबों के लिए प्रशासन ने 802 करोड़ रुपये स्वीकृत किया है। पहले तालाबों का चयन करने में देरी हुई। फिर इसी बीच मनरेगाकर्मियों की हड़ताल हो गई। काम शुरू होने के कुछ दिनों बाद वर्षा लगने के कारण अपेक्षा के अनुरूप काम को आगे नहीं बढ़ाया जा सका। यही कारण है कि चयनित सभी तालाबों में स्वतंत्रता दिवस पर तिरंगा झंडा नहीं फहराया जा सकता है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close