रायपुर। बीजापुर जिले के बासागुड़ा थाना क्षेत्र के गांवों में नक्सल सर्चिंग ऑपरेशन पर निकले जवानों द्वारा आदिवासी महिलाओं से बदसलूकी व अनाचार के आरोप की जांच राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग करेगा। आयोग के अध्यक्ष डॉ.रामेश्वर ओरांव 3 अप्रैल को राजधानी रायपुर आएंगे और खुद जांच करेंगे। रायपुर के रेस्ट हाउस में अस्थायी दफ्तर में इस घटना के पीड़ितों व गवाहों के बयान दर्ज किए जाएंगे।

ज्ञात हो कि बीजापुर जिले के बासागुड़ा थाना क्षेत्र के चिन्नागेलूर, पेद्दागेलूर व पेगड़ापल्ली गांवों में पिछले साल अक्टूबर में आदिवासी महिलाओं से अनाचार का आरोप फोर्स पर लगा था। अर्धसैन्य बलों ने 19 व 20 अक्टूबर को इस इलाके में नक्सली सर्चिंग गश्त की थी। आरोप है कि इस दौरान जवानों ने आदिवासी महिलाओं से बदसलूकी की व रेप भी किया। करीब 15 दिन बाद नवंबर के पहले हफ्ते में आम आदमी पार्टी की नेत्री सोनी सोरी तथा अन्य मानवाधिकार कार्यकर्ताओं ने इस घटना का खुलासा किया था। काफी हंगामे के बाद प्रशासन ने नवंबर में अज्ञात जवानों के विरुद्ध अनाचार का मामला दर्ज किया और पीड़ित चार महिलाओं का मेडिकल भी कराया गया। हालांकि इस मामले में अभी तक किसी की गिरफ्तारी या पहचान नहीं हो पाई है। मामले के सामने आने के बाद कांग्रेस ने इसकी जांच के लिए 11 सदस्यीय जांच दल बनाया था जिसने संबंधित गांवों में जाकर मामले रिपोर्ट बनाई थी। कांग्रेस की रिपोर्ट में भी आदिवासी महिलाओं से बदसलूकी की पुष्टि की गई है। बुधवार को विधानसभा में भी कांग्रेस के सदस्यों ने बासागुड़ा रेप कांड को जोर शोर से उठाया और सरकार पर गंभीर आरोप लगाए। अब इस घटना को राष्ट्रीय अजजा आयोग ने संज्ञान में लिया है। आयोग के अध्यक्ष डॉ.रामेश्वर ओरांव हालांकि बीजापुर नहीं जाएंगे, लेकिन आयोग की ओर से संबंधितों को रायपुर आकर बयान दर्ज कराने को कहा गया है।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020