सुकमा। पूना नर्कोम अभियान का असर जिले के अंदरूनी इलाकों में देखने को मिल रहा है। हाल ही में स्थापित कोलाईगुड़ा कैंप में गणतंत्र दिवस पर 23 नक्सल समर्थकों ने आत्मसमर्पण किया। इसमें आठ महिला नक्सली शामिल है। इसके साथ ही तीन नक्सलियों पर शासन ने एक-एक लाख का इनाम घोषित कर रखा था। इधर पुलिस अधिकारियों ने आत्मसमर्पित नक्सलियों को शासन की योजना का लाभ देने की बात कही।

गणतंत्र दिवस के मौके पर भेज्जी थानाक्षेत्र स्थित नवीन कैंप कोलाईगुड़ा में करीब 150 की संख्या में आसपास के ग्रामीण पहुंचे और उनके साथ विभिन्ना मामलों में शामिल 23 नक्सली भी पहुंचे जिन्होंने पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया। पूना नर्कोम अभियान पुलिस प्रशासन की और से चलाया जा रहा है जिसके अंतर्गत नक्सलियों के खिलाफ आपरेशन के अलावा सड़क, विकास, शिक्षा व रोजगार हेतु

युवाओं को प्रशिक्षण देने का काम किया जा रहा है। इससे प्रभावित होकर व नक्सलियों के भेदभाव से परेशान होकर 23 नक्सली आत्म समर्पण करने पहुंचे। इसमें आठ महिला नक्सली भी शामिल थी। उसमें से तीन नक्सलियों पर शासन द्वारा एक-एक लाख का इनाम भी घोषित था। सभी ग्रामीणों को कैंप में भोजन कराया गया और पुलिस अधिकारी उनके साथ काफी देर तक चर्चा की।

पुनर्वास नीति का दिया गय ालाभ

ग्रामीणों को बताया कि किस तरह सरकार क्षेत्र के विकास में काम कर रही हैं। सड़कों व पुलियों का निर्माण हो रहा है गांव में स्कूलेड संचालित हो रही है। साथ ही फोर्स आपकी सुरक्षा व विकास के लिए तैनात है बस जरूरत है आप लोग मुख्यधारा से जुड़कर विकास कार्यो में भागीदारी निभाऐं। सभी आत्मसमर्पित नक्सलियों को शासन की पुनर्वास नीति का लाभ दिया गया। इस दौरान एनपी सिंह कमांडेंट 50 वीं बटालियन, पामुला किशोर, सचिन्द्र चैबे, गिरजाशंकर राव मौजूद रहे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local