सुकमा। शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय दहिकोंगा में संकुल स्तरीय शाला प्रवेश उत्सव का आयोजन किया गया। इस अवसर पर संकूल केंद्र दहिकोंगा अन्तर्गत आने वाले पांच प्राथमिक शाला, दो माध्यमिक शाला एवं एक उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के छात्र-छात्राएं उपस्थित हुए। मुख्य अतिथि दहिकोंगा की सरपंच सनाय नेताम उपस्थित थीं। प्रवेश उत्सव के दौरान मालती ध्रुव एवं देशवती कौशिक के मार्गदर्शन में सरस्वती वंदना, स्वागत गीत, स्वागत नृत्य आदि विविध सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

दहिकोंगा सरपंच नेताम ने कहा कि जब बच्चे पढ़ेंगे तभी आगे बढ़ेंगे इसलिए पढ़ाई अत्यंत आवश्यक है। जीवन में शिक्षा का विशेष महत्व होता है। हम सभी पालकों को अपने बच्चों के प्रति सजगता रखते हुए शिक्षा के प्रति उन्हें प्रेरित करना चाहिए। प्राचार्य टीपी जोशी ने कहा कि शासन के द्वारा संकुल केंद्रों की संख्या बढ़ाई गई है, जिससे संकुल केंद्र दहिकोंगा अंतर्गत सीमित संख्या में विद्यालय सम्मिलित की गई है। जिससे शिक्षा की गुणवत्ता एवं शालाओं की सतत निगरानी की जा सकें।

उत्कृष्ट शिक्षा प्रदान करना अपना लक्ष्‌य

सभी विद्यालय के शिक्षक शिक्षिकाओं को संबोधित करते हुए संकुल प्राचार्य ने कहा कि हम सभी शिक्षक मिलकर छात्रों को शत-प्रतिशत विद्यालय में उपस्थिति एवं उनके भविष्य के लिए सतत रूप से अपने दायित्व का निर्वहन करते हुए उत्कृष्ट शिक्षा प्रदान करना अपना लक्ष्‌य बनाएं। प्रवेश उत्सव में कक्षा पहली, छठवीं में प्रवेश लेने वाले छात्र छात्राओं को पाठ्य पुस्तक एवं गणवेश तथा कक्षा नवमीं में प्रवेश लेने वाले छात्र-छात्राओं को पाठ्य पुस्तक का वितरण भी किया गया। समय पर गणवेश मिलने का फायदा यह होगा कि बच्चे पहले दिन से ही स्कूल में यूनीफार्म पहनकर आएंगे।

शाला कार्यक्रम में संजीव कुमार दुबे, बुदरू राम सेठिया, भागेश्वरी मानिकपुरी, प्रीति सेन, ग्राम पुजारी फरसराम बघेल, प्रबंधन समिति सदस्य पनेश्वरी पटेल, समली मरावी, संकुल समन्वयक अश्वन दीवान, व्यायाम शिक्षक ऋषिदेव सिंह सहित संकुल केंद्र के समस्त शिक्षक शिक्षिका आदि उपस्थित रहे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close