सुकमा। Sukma News: छत्‍तीसगढ़ के बस्‍तर संभाग में बारिश एक बार फिर मुसीबत बनकर सामने आई है। भारी बारिश के चलते संभाग में कई जिलों में नदी-नाले उफान पर हैं। इसी बीच सुकमा जिले में अचानक आए बाढ़ की वजह से 24 घंटे तक पेड़ पर बैठे 80 साल के बुजुर्ग का सुरक्षित रेस्क्यू किया गया। बुजुर्ग बगैर कुछ खाना खाए और पानी पीए 24 घंटे तक पेड़ पर बैठा रहा।

दरअसल, किनरकेंद्रवाड़ा निवासी 80 वर्षीय लखमाराम नाग का घर से करीब एक किमी दूर पर खेत है। लखमाराम का खेत नदी के किनारे है। बुजुर्ग लखमाराम अक्‍सर खेत की निगरानी के लिए रात में वहां चले जाया करते थे। रविवार को भी वे खेत की निगरानी के लिए खेत चले गए। लेकिन रात काफी होने की वजह से लखमाराम वहीं खेत में सो गए। भारी बारिश के चलते अचानक नदी का जलस्‍तर बढ़ गया और बाढ़ का पानी आसपास के खेतों में घुस गया।

यह भी पढ़ें : जगदलपुर: भारी बारिश से स्‍कूलों में छुट्टी, किरंदुल-कोत्तावालसा रेल ट्रैक पर भरा पानी, रेल आवागमन रोका गया

लखमाराम की नींद खुली तो देखा वे चारों तरफ अचानक आए बाढ़ के पानी से घिरा हुआ है। तेजी से बढ़ते जलस्‍तर को देखते हुए उसे समझ नहीं आ रहा था कि वो करे तो क्या करे। इन सबके बीच उसे एक पेड़ नजर आया जिसपर वो अपनी जान बचाने के लिए चढ़ गया और बगैर कुछ खाना खाए और पानी पीए 24 घंटे तक पेड़ पर बैठा रहा।

बुजुर्ग ने अपने पास रखे टार्च की मदद से गांव के लोगों को सिग्‍नल देकर बाढ़ में फंसे होने की जानकारी दी। इसके बाद सोमवार को राहत बचाव दल की टीम बुजुर्ग तक पहुंची और उनका सुरक्षित रेस्क्यू किया गया।

इधर, भारी वर्षा के चलते मलकानगिरी मार्ग पर झापरा के पास और जगदलपुर मार्ग पर पुलिस लाइन के पास सड़क पर बारिश का पानी जमा हो गया है। इससे सुकमा जिला मुख्यालय का संभाग मुख्यालय और ओडिशा से सड़क संपर्क टूट गया है।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close