सुकमा। बस्तर के नक्सल प्रभावित सुकमा जिले में नक्सलियों की बड़ी वारदात को अंजाम देने की मंशा विफल हो गई है। नक्सलियों ने यहां यात्री बस को बीच रास्ते में रोक दिया। इस घटना की सूचना पर जब पुलिस पार्टी रोड ओपनिंग के लिए निकली तो नक्सलियों ने उन्हें एंबुश में फंसाने की कोशिश की। घात लगाकर बैठे नक्सलियों ने पुलिस पार्टी पर हमला कर दिया, लेकिन जवानों की मुस्तैदी से यह हमला नाकाम रहा। जवानों ने नक्सलियों के एंबुश में फंसने की बजाए जमकर फायरिंग की और खुद को कमजोर पड़ता देख नक्सली वहां से भाग खड़े हुए। जवानों ने फायरिंग से यात्रियों को भी सुरक्षित रखा और उन्हें वहां से निकाला। घटना के बाद इलाके में अतिरिक्त फोर्स रवाना की गई है। नक्सलियों के जमावड़े की आशंका को देखते हुए क्षेत्र में सघन सर्चिंग की जा रही है,स्थानीय सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार गुरुवार की दोपहर एक यात्री बस सुकमा से भेज्जी जाने के लिए रवाना हुई। रास्ते में एटेगट्टा गांव के पास सड़क में नक्सलियों ने बस को रोक दिया। मामले की सूचना मिलने से तत्काल डीआरजी जवान मौके पर पहुंचे। जैसे ही डीआरजी जवान वहां पहुंचे, घात लगाकर बैठै नक्सलियों ने उन पर हमला कर दिया।

नक्सलियों ने जवानों को एंबुश में फांसने की कोशिश की, लेकिन जवान उनके इस मंसूबे को समझ चुके थे। जवानों ने यात्रियों के लिए सुरक्षा लेयर तैयार करते हुए नक्सलियों पर जवाबी कार्रवाई की जिसके बाद वे वहां से भाग खड़े हुए। फिलहाल इलाके में सर्चिंग जारी है। जिले के पुलिस अधीक्षक शलभ सिन्हा ने घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि इस घटना में किसी भी यात्री या पुलिस जवान को कोई चोट नहीं आई है। सभी को सुरक्षित वहां से निकाल लिया गया है। सड़क पर वाहनों का परिचालन शुरू हो गया है और क्षेत्र में सघन सर्चिंग की जा रही है।

Posted By: Nai Dunia News Network