सुकमा। विगत दो वर्षों से आम जन-जीवन अस्त व्यस्त करने वाले कोरोना संक्रमण की संभावित तीसरी लहर के दृष्टिगत प्रशासनिक स्तर पर जिले के नागरिकों को सुरक्षा संबंधी निर्देशों का पालन करवाना आवश्यक है। इसके साथ ही व्यक्तिगत तौर पर भी लोगों को मास्क का उपयोग करने, शारीरिक दूरी का पालन करने के लिए प्रोत्साहित करें। बुधवार को आयोजित समय-सीमा की बैठक में कलेक्टर विनीत नंदनवार ने सभी अधिकारियों को कोविड-19 से सुरक्षा के लिए पुनः जिले में निगरानी करने के निर्देश दिए।

इसके साथ ही सीमावर्ती इलाकों में कोरोना टेस्टिंग प्रारंभ करने को कहा। जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में शत प्रतिशत कोविड टीकाकरण सुनिश्चित करने के लिए कलेक्टर द्वारा नोडल अधिकारियों की नियुक्ति की गई है। उन्होंने समस्त नोडल अधिकारियों को संबंधित क्षेत्र में शीघ-अतिशीघ्र कोविड टीकाकरण के दोनों डोज पूर्ण करने के लिए निर्देशित किया।

समय-सीमा की बैठक में नंदनवार ने सभी विभागों के प्रगतिरत कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने मुख्यमंत्री पौधारोपण प्रोत्साहन योजना, मत्स्य हैचरी निर्माण कार्य की धीमी गति पर गहरी नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने अधिकारियों को कार्य योजना तैयार करते समय सभी तकनीकी आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए डीपीआर तैयार करने पर जोर दिया, ताकि निर्माण कार्य को सुव्यवस्थित रूप से किया जा सकें। धान खरीदी के संबंध में नोडल अधिकारियों को सभी उपार्जन केंद्रों में बारदानों की पर्याप्त मात्रा, कृषक पंजीयन, मिलर्स पंजीयन आदि समस्त व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने को कहा। जिससे धान खरीदी में कृषकों को किसी भी प्रकार की समस्या का सामना न करना पड़े और सुगमता से धान खरीदी हो।

जल जीवन मिशन की धीमी कार्य प्रगति पर जताई नाराजगी

कलेक्टर नंदनवार ने लोक स्वास्थ्य विभाग द्वारा जिले में क्रियांवित जल जीवन मिशन की विस्तृत समीक्षा की। योजनांतर्गत स्वीकृत ग्रामों में पाईपलाईन विस्तार, टंकी निर्माण आदि कार्यों की धीमी गति पर उन्होंने नाराजगी जताते हुए विभागीय अधिकारियों को कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए। वहीं शासकीय भवनों जैसे आंगनबाड़ी केंद्र, स्कूल, आश्रम, स्वास्थ्य केंद्र एवं पंचायत भवन में रनिंग टैप वाटर कनेक्शन कार्य को निर्धारित समयावधि में पूर्ण करने के निर्देश दिए हैं।बैठक में उन्होंने स्वास्थ्य, क्रेड़ा, कृषि, पशुधन विकास, शिक्षा विभाग आदि की समीक्षा की। उन्होंने राजस्व प्रकरणों, नक्शा खसरा एंट्री, आधार एंट्री, किसान किताब एंट्री कार्य, लंबित प्रकरणों का नियमानुसार कार्रवाई करने के लिए निर्देशित किया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local