सुकमा (नईदुनिया न्यूज़)। जिले के कोर्रा पोटाकेबिन में नवमी कक्षा के एक छात्र ने जहर खाकर आत्महत्या कर ली। छात्र, सोमवार सुबह से गायब हो गया था। अधीक्षक ने आसपास खोज-खबर की लेकिन पता नही चल पाया। रात 11 बजे जहर खाकर वह अपने घर पहुंचा। परिजनों ने उसे जिला अस्पताल पहुंचाने का प्रयास किया लेकिन वहां पहुंचने से पहले ही उसकी मौत हो गई।

जानकारी के मुताबिक, कोर्रा पोटाकेबिन में अध्यनरत छात्र रमेश यादव पिता मेहत्तर यादव गोलगुड़ा का रहने वाला था। 21 सितंबर को वो अपने पिता के साथ दो दिन के अवकाश पर घर त्यौहार बनाने गया था। 25 सितंबर को वह पोटाकेबिन लौटा। शाम को सहपाठियों के साथ खेला, लेकिन सुबह वो गणना में अनुपस्थित था। अधीक्षक ने आसपास खोज-खबर की पर कोई जानकारी नहीं मिली। अधीक्षक ने घर पर फोन किया लेकिन नेटवर्क नही होने के कारण परिजनों को सूचना नही मिल पाई।

रात 11 बजे जब परिजन सो रहे थे तब घर के सामने किसी के गिरने की आवाज आई तो बड़ी बहन लखमी यादव ने दरवाजा खोला तो रमेश जमीन पर तड़प रहा था। उसने बस इतना ही बताया कि उसने जहर का सेवन किया है। उसके बाद परिजनों ने एम्बुलेंस को फोन किया लेकिन देरी होने के कारण गांव के आटो से जिला अस्पताल पहुंचाने की कोशिश की लेकिन उसने रास्ते मे दम तोड़ दिया।

परिजनों ने बताया कि उनका बेटा सोमवार सुबह पोटाकेबिन के लिए चला गया था लेकिन अधीक्षक मनोज पोया ने बताया कि वो शाम को पहुंचा। इस दौरान क्या हुआ ये किसी को नही पता। जिन परिस्थितयों में छात्र की मौत हुई है, उससे ये पूरा प्रकरण संदेह में आ गया है। इस पूरे मामले में डीईओ नितिन डड़सेना ने कहा कि मुझे जानकारी मिली है। इस पूरे प्रकरण को लेकर अधीक्षक से प्रतिवेदन मंगवाया हुं। उसके बाद उचित कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Pramod Sahu

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close