सुकमा Sukma Naxalite । पिछले 15 सालों से नक्सल संगठन से जुड़ा हुआ था। ताड़मेटला, राहत शिविर पर हमला जैसे कई घटनाओं में शामिल था। कई बार काले झंडे भी फहराए क्योंकि संगठन में काला दिवस के रूप में मनाया जाता है लेकिन आज मेरे दिल को बहुत अच्छा लगा, जब में तिरंगा लहराते हुए देखा। मेरी इच्छा थी कि आज के दिन ही पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण करुं। मैं अपने साथियों से अपील करता हूं कि वो संगठन को छोड़ मुख्याधारा से जुड़े। उक्त बाते पत्रकारों से चर्चा करते हुए 8 लाख का इनामी नक्सली व्यंकटेश ने कही।

शनिवार को जिला मुख्यालय स्थित पुलिस अधीक्षक कार्यालय में डीआईजी सीआरपीएफ व एसपी के समक्ष पांच नक्सलियों ने आत्मसमर्पण किया। पुलिस अधीक्षक कार्यालय में बोड्डू व्यंकटेश उर्फ राजीव 8 लाख, उण्डाम सन्ना 5 लाख, मड़कम सोनी 1 लाख, सन्ना मरकाम व पोड़ियम देवा ने पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण किया है। सभी सरेंडर नक्सलियों को प्रोत्साहन राशि दी गई वही शासन की योजनाओं का लाभ देने की बात अधिकारियों ने कही।

इस दौरान सुनील शर्मा एएसपी सुकमा, रघुवंश कुमार कमांडेंट 223, डीएसपी अनिल विश्वकर्मा, डीएसपी आशा सेन मौजदू थे। चिरमूल एंबुश व पुमबाड़ घटनाओं समेत आधा दर्जन घटनाओं में शामिल नक्सली मड़कम सोनी जिस पर 1 लाख का इनाम घोषित है, उसने आत्मसपर्मण किया है। महिला नक्सली मड़कम सोनी ने कहा कि पिछले कई सालो से सरेंडर करने का प्रयास कर रही थी, क्योंकि नक्सल संगठन में महिलाओं के साथ भेदभाव होता है। इसलिए मैंने सरेंडर किया है। अब मैं अपने पति सुखराम जो कि नक्सल संगठन में काम करता है, उससे अपील करती हूं कि वो भी नक्सल संगठन को छोड़ मुख्यधारा से जुड़ जाए। आज पूरा देश स्वतंत्रता दिवस मना रहा है।

- इससे अच्छा अवसर नहीं हो सकता था कि आज हमारे कुछ साथी, जो कि नक्सल व माओवाद की झूठी विचारधारा से भटक गए थे, लेकिन आज के दिन उन्होंने मुख्यधारा से जुड़ने का निर्णय लिया, जो स्वागत योग्य है और भी ऐसे साथी हैं, जो नक्सलियों की विचारधारा से प्रभावित है विकास विरोधी कार्यो में संलिप्त है, उनसे भी अपील है कि वो मुख्यधारा से जुड़े. – योज्ञान सिंह, डीआईजी सीआरपीएफ

- जिले में लगातार नक्सलियों के खिलाफ ऑपरेशन चलाए जा रहे है, वही साथ में सिविक एक्शन व जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। जिसके चलते नक्सली संगठन को छोड़ मुख्यधारा से जुड़ रहे है। ऐसे ही आज 5 नक्सलियों ने आत्मसमर्पण किया। आज तक जो काला दिवस मनाया करते थे आज उन्होंने स्वंतंत्रता दिवस मनाया है। हम उन सभी लोगों से अपील करते है, जो गलत विचारधारा से प्रभावित होकर जंगलों में भटक रहे है। वो सरेंडर करे और जिले व प्रदेश के विकास में अपनी भूमिका निभाए। इन सभी को शासन की योजना का लाभ दिया जाएंगा। – शलभ सिन्हा एसपी सुकमा

Posted By: Sandeep Chourey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020