सुकमा। इन दिनों खेतों में धान की फसल पक चुकी है, लेकिन जंगली जानवर फसल को नुकसान पहुंचाने का काम कर रहे है। जिसकी रखवाली के लिए ग्रामीण खेत गया हुआ था। लेकिन वहां पर भालू ने ग्रामीण पर हमला कर दिया जिसके दाए पैर में गंभीर चौट लगी है जिसका उपचार जिला अस्पताल में चल रहा है। वही इस हमले के बाद गांव में दहशत का माहौल है। ग्रामीणों की माने तो पिछले दो सालों में भालू आसपास जंगलों में देखे जा रहे है।

जिला मुख्यालय से 15 किमी.दूर स्थित भेलवापाल गांव का चेतापारा निवासी मुचाकि बुधरा ने बताया कि मंगलवार की शाम चार बजे फसल रखवाली के लिए खेत गया था। अभी खेत में धान की फसल पक चुकी है। लेकिन जंगली व पालतू सुअर फसल को नुकसान पहुंचाने का काम कर रहे है। इसलिए खेत के चारों ओर घूमकर देख रहा था। तभी पास घने जंगल में दो बड़े भालू दिखाई दिए। देखते ही वह डर के मारे पास में ही एक पेड़ पर चढ़ गया। लेकिन पेड़ छोटा था और दो भालू में से एक भालू ने लपक कर दाया पैर पकड़ लिया और दांत से काटकर बुरी तरह जख्मी कर दिया।

कुत्ते के डर से भागे भालू

पीछे आ रहा मेरा पालतू कुत्ते ने भौंकना शुरू कर दिया जिसके डर से दोनों भालू जंगल की भाग गए। उसके बाद में धीरे-धीरे घर पहुंचा जहां से अस्पताल लाया गया, जहां उपचार जारी है। पीड़ित ने बताया कि अगर मेरा कुत्ता सही समय पर नहीं आता तो मेरी जान भालू ले लेते। इस घटना के बाद गांव में दहशत का माहौल है। ग्रामीणों का कहना है कि जंगल में लकड़ी व अन्य काम से महिलाएं व पुर्स्ष जाते रहते है। लेकिन इस हमले के बाद से लोग दहशत में है।

एक साल से दिख रहे भालू

ग्रामीणों ने बताया कि पहले भालू काफी अंदर जंगलों में हुआ करते थे। लेकिन वह गांव या फिर खेत के करीब नहीं आते थे। लेकिन पिछले एक साल में भालू खेतों व गांव के आसपास दिखाई दे रहे है। दरअसल पिछले एक साल में जंगल के भीतर ग्रामीण भुुट्टा की खेती कर रहे है इस कारण भालू आसपास ज्यादा दिखाई दे रहे है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local