सूरजपुर । नईदुनिया न्यूज

नशीली दवाओं के कारोबार के खिलाफ सूरजपुर जिले में चलाए जा रहे विशेष अभियान के तहत पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। पुलिस ने नशे के अवैध कारोबार में शामिल अंतरराज्यीय गिरोह के पांच सदस्यों को गिरफ्तार कर उनसे करीब 25 लाख की नशीली दवाएं जब्त की हैं। गिरफ्तार आरोपितों में एक मेडिकल स्टोर का संचालक भी शामिल है।

सूरजपुर जिले में लंबे समय से नशीली दवाओं का अवैध कारोबार चल रहा था। पुलिस अधीक्षक के रूप में राजेश कुकरेजा की पदस्थापना के बाद जनप्रतिनिधियों एवं आमजनों ने कारोबार पर लगाम लगाने की मांग की थी। उनके निर्देश के बाद पुलिस ने जिले भर में नशे के कारोबारियों की धरपकड़ के लिए अभियान शुरू किया था। एसपी राजेश कुकरेजा ने बताया कि 11 नवंबर को बसदेई चौकी प्रभारी सुनील सिंह को मुखबिर से सूचना मिली कि माड़ा मध्यप्रदेश से पटना जिला कोरिया निवासी गंगा प्रसाद साहू अपने दो साथी राजेन्द्र गोंड़ एवं पारस गोंड़ के साथ बाइक क्रमांक सीजी 16 सीबी-6310 में अवैध रूप से नशीली दवाएं लेकर आ रहा है। चौकी प्रभारी ने एसपी कुकरेजा को इसकी सूचना दी। एसपी के मार्गदर्शन में मुखबिर के बताए अनुसार बसदेई पुलिस की टीम ने ग्राम कुसमुसी के पास घेराबंदी की। करीब चार घंटे के लंबे इंतजार के बाद ओड़गी की ओर से एक बाइक आती दिखी। पुलिस ने जब उसे रुकवाने का प्रयास किया तो चालक बाइक को तेज गति से चलाकर भागने लगा। पुलिस टीम ने पीछाकर उसे पकड़ लिया। बाइक में सवार तीनों से पूछताछ करने पर नाम गंगा प्रसाद साहू पिता उदय भान साहू 36 वर्ष ग्राम रनई, थाना पटना, जिला कोरिया, राजेन्द्र गोंड़ पिता कामेश्वर सिंह 27 वर्ष निवासी ग्राम चम्पाझर, थाना पटना जिला कोरिया एवं पारस गोंड़ पिता जगदीश गोंड़ 22 वर्ष निवासी ग्राम चम्पाझर, थाना पटना जिला कोरिया बताया। पुलिस टीम ने जब उनकी तलाशी तो तीनों के कब्जे से एक जूट के बोरे में नशील कफ सिरप, इंजेक्शन, टेबलेट, कैप्सूल आदि बरामद हुआ। जिसपर पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया।

सरगना निकला मेडिकल स्टोर संचालक

नशीली दवाईयां के संबंध में आरोपितों से पूछताछ करने पर उन्होंने पुलिस को उक्त नशीली दवाओं को माड़ा मध्यप्रदेश के शिवम मेडिकल के संचालक मिथलेश शाह से खरीदना बताया। यह भी बताया कि मेडिकल संचालक मिथलेश शाह भारी मात्रा में अवैध नशीली दवाओं का भण्डारण अपने मेडिकल स्टोर में करके रखता है। उसने कई बार नशीली दवाएं खरीदकर उसे कोरिया जिले के पटना एवं आसपास के इलाकों में नशेड़ियों को ऊंची कीमत पर सप्लाई की है।

सिंगरौली एसपी का भी मिला साथ

नशे के इस कारोबार को जड़ से उखाड़ फेंकने की मुहिम के तहत एसपी कुकरेजा ने पुलिस टीम को कार्रवाई के लिए माड़ा मध्यप्रदेश भेजने की रणनीति बनाई। उन्होंने आइजी केसी अग्रवाल को इसकी जानकारी देकर कार्रवाई के लिए अनुमति ले ली। इसके बाद एसपी के निर्देश पर एसडीओपी ओड़गी मंजूलता बाज के नेतृत्व में एसआइ अजहरूद्दीन, चौकी प्रभारी बसदेई सुनील सिंह सहित अन्य पुलिस कर्मचारियों की एक टीम माड़ा मध्यप्रदेश रवाना हुई। जिले की पुलिस टीम को सहयोग प्रदान के लिए सिंगरौली मध्यप्रदेश के एसपी अभिजीत सिंह रंजन से सूरजपुर एसपी ने फोन पर चर्चा भी की। सूरजपुर की पुलिस टीम माड़ा जिला सिंगरौली मध्यप्रदेश पहुंची और थाना प्रभारी माड़ा अभिमन्यु द्विवेदी की टीम के साथ शिवम मेडिकल स्टोर में दबिश दी। पुलिस ने मेडिकल संचालक मिथलेश शाह एवं उसके कर्मचारी बोलबम शाह के कब्जे से बड़ी मात्रा में नशीली दवाएं जब्त की। मामले में पुलिस ने एनडीपीएस एक्ट के तहत अपराध दर्ज कर पांचों आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है।

छग के ही व्यापारियों को करता था नशीली दवाओं की सप्लाई

भारी मात्रा में जब्त की गई नशीली दवाओं के संबंध में आरोपित मिथलेश शाह ने पूछताछ में बताया कि नशीली दवाओं को कम कीमत में सागर, कटनी व रीवां से लाकर अपने मेडिकल स्टोर में बेचने के लिए रखता था। ज्यादा पैसा कमाने के चक्कर में नशीली दवाओं को छत्तीसगढ़ के छोटे व्यापारियों को महंगे दर पर बेच कर लाभ कमाता था। मेडिकल स्टोर संचालक अब तक केवल छत्तीसगढ़ के व्यापारियों को ही नशीली दवाओं की बिक्री करता था वह मेडिकल स्टोर की आड़ में नशे का कारोबार कर पुलिस से अब तक बचता रहा। यह पहला मामला है कि जब सूरजपुर पुलिस की टीम ने मध्यप्रदेश में छापा माकर नशीली दवाओं का जखीरा मेडिकल स्टोर से बरामद किया है। मध्यप्रदेश के माड़ा कस्बे में सूरजपुर पुलिस द्वारा की गई कार्रवाई से अन्य मेडिकल स्टोर संचालकों में खलबली मची हुई है।

इन नशीली दवाओं को पुलिस ने किया जब्त

पुलिस ने 22660 नग कैप्सूल, 30800 नग टेबलेट, 966 नग इंजेक्शन एवं 95 नग कफ सिरप कुल 54 हजार 521 नग नशीली दवाईयां जब्त किया है, जिनमें ओनरेक्स कफ सिरप 95 नग, एविल इंजेक्शन 886 नग, रेक्सोजैसिक इंजेक्शन 40 नग, लेबोरेट इंजेक्शन 40 नग, ट्रीडोल 50 कैप्सूल 3300 नग, सिंप्लेक्स सी प्लस कैप्सूल 12928 नग, पाइवोन स्पास प्लस कैप्सूल 1536 नग, स्पास ट्रानकन प्लस कैप्सूल 4896 नग, अल्प्राजोलम टेबलेट 600 नग एवं अल्प्रोकेन टेबलेट 30200 नग है, जिसकी अनुमानित कीमत करीब 25 लाख रुपये है।

स्टाक पर नियंत्रण रखने शासन को लिखा जाएगा पत्र

एसपी राजेश कुकरेजा ने बताया कि मेडिकल स्टोर संचालक द्वारा जिन बड़े शहरों के संस्थानों से नशीली दवाओं को लाया जाता है, उन संस्थानों के विरुद्घ अलग से कार्रवाई की जाएगी। पुलिस ने इन नशीली दवा कंपनी के विरुद्घ उचित कार्रवाई व नियंत्रण हेतु राज्य एवं केन्द्र सरकार को पत्राचार किया जा रहा है कि इनके वितरण में पर्याप्त नियंत्रण रखा जाए। ताकि प्रतिबंधित दवाएं शहरी दुकानों में भेजे जाने के बाद छोटे-छोटे कस्बों की दुकानों में न चली जाएं।

14 मामलों में 31 लोगों पर हो चुकी है कार्रवाई

एसपी द्वारा नशे के विरुद्घ चलाए जा रहे अभियान के तहत बसदेई पुलिस ने एक और बड़ी सफलता हासिल करते हुए अंतरराज्यीय गिरोह का पर्दाफाश कर नशे की कड़ी को तोड़ दिया है। इसके पूर्व भी बसदेई पुलिस ने वर्ष 2019 में सात अलग-अलग प्रकरणों में 13 लोगों से करीब 81 हजार कीमत का गांजा एवं करीब नौ लाख, बिश्रामपुर पुलिस ने छह अलग-अलग मामलों में 16 लोगों से करीब पांच लाख 40 हजार रुपये की नशीली दवाएं एवं खड़गवां पुलिस द्वारा 12 नवंबर 2019 को दो लोगों से पांच लाख की कीमत का कफ सिरप बरामद कर आरोपितों को जेल भेजा है।

पुलिस अधीक्षक को किया सम्मानित

सूरजपुर पुलिस द्वारा पड़ोसी राज्यों में जाकर की गई अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई के लिए सूरजपुर प्रेस क्लब के जिलाध्यक्ष प्रवेश गोयल एवं पत्रकार सुरक्षा समिति के जिलाध्यक्ष राजेश सोनी ने पुलिस अधीक्षक राजेश कुकरेजा को प्रेस कांफ्रेंस के दौरान सम्मानित भी किया। गौरतलब है कि मीडिया द्वारा लगातार नशे के कारोबार पर नियंत्रण के लिए आवाज उठाई जा रही थी।

सफलता पर एसपी ने पूरी टीम को इनाम देने की घोषणा

बसदेई पुलिस की इस सफलता पर पुलिस अधीक्षक ने पूरी टीम को नकद इनाम देने की घोषणा की है। साथ ही पुलिस महानिदेशक छत्तीसगढ़ द्वारा चलाए जा रहे इन्द्रधनुष योजना में पूरी पुलिस टीम को पुरस्कृत करने हेतु अनुशंसा की गई है। कार्रवाई में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर व सीएसपी जेपी भारतेन्दु सहित एसडीओपी ओड़गी मंजूलता बाज, एसआइ अजहरूद्दीन, चौकी प्रभारी बसदेई सुनील सिंह, प्रधान आरक्षक मनोज पोर्ते, हंसराम कनेडिया, आरक्षक अमरेन्द्र दुबे, जितेन्द्र पटेल, देवदत्त दुबे, महेन्द्र प्रताप सिंह, प्रदीप साहू, महेन्द्र यादव, थामस मिंज, जयप्रकाश सिंह, रामनारायण सोनवानी, राकेश बंजारे, मोहन रजक, प्रदीप जायसवाल, महिला नगर सैनिक रीमा गुप्ता सक्रिय रहे।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Ram Mandir Bhumi Pujan
Ram Mandir Bhumi Pujan