वाड्रफनगर (नईदुनिया न्यूज)। शासकीय रानी दुर्गावती महाविद्यालय वाड्रफनगर में परमाणु ऊर्जा विभाग के परमाणु खनिज निदेशालय की ओर से महाविद्यालय के विज्ञान संकाय के छात्र-छात्राओं के लिए एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। खनिज निदेशालय के वरिष्ठ वैज्ञानिक डा. प्रखर कुमार वैज्ञानिक परमाणु खनिज निदेशालय नागपुर की उपस्थिति में कार्यशाला संपन्न हुई।

कार्यशाला में वैज्ञानिक राजीव रंजन, प्रवीण कुमार, एम लिंगम मूर्ति, जुनैद अहमद और सोमेंद्र नायक परमाणु खनिज निदेशालय भी उपस्थित थे। विशिष्ट वैज्ञानिक डा. प्रखर कुमार ने परमाणु ऊर्जा के भविष्य को विस्तार से रेखांकित किया। राजीव रंजन ने परमाणु ऊर्जा के उपयोग के संबंध में फैली भ्रांति का निराकरण करते हुए परमाणु ऊर्जा को भविष्य में वैकल्पिक ऊर्जा के रूप में निरूपित किया। साथी वैज्ञानिक एम. लिंगम मूर्ति ने यूरेनियम की खोज कैसे करते हैं, इस पर विस्तार से छात्र छात्राओं को समझाया। इसके साथ ही छात्र छात्राओं के लिए विज्ञान विषय पर क्विज का भी आयोजन किया गया जिसमें छात्र-छात्राओं ने बढ़ चढ़कर भाग लिया। विजेता छात्र-छात्राओं को प्रमाण पत्र के साथ-साथ पुरस्कार प्रदान किया गया। कार्यक्रम के आयोजन में महाविद्यालय के प्राचार्य डा. पीआर कोसरिया, सहायक प्रोफेसर सुधीर कुमार सिंह, सुरेश कुमार पटेल, डा. तोयाज शुक्ला, ग्रंथपाल पंकज कुमार सक्रिय थे।

Posted By: Nai Dunia News Network