खबर पर नजर

बिश्रामपुर (नईदुनिया न्यूज)। करीब दो वर्ष पूर्व जयनगर थाना क्षेत्र के आमगांव प्लांटेशन में अंबिकापुर निवासी बहुउद्देशीय स्वास्थ्य कर्मचारी संघ के सरगुजा जिला अध्यक्ष जनार्दन प्रसाद यादव 46 वर्ष के अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाने एक बार फिर सूरजपुर एसपी द्वारा गठित टीम द्वारा मशक्कत की जा रही है। मामले में हत्यारों तक पहुंचने के लिए पूर्व में भी पुलिस टीम गठित की जा चुकी है, लेकिन हमेशा नतीजा शून्य रहा।

प्रारंभिक जांच में पुलिस का मानना था कि मृतक कर्मचारी नेता के साथ किसी अन्य स्थान पर वारदात हुई होगी और मामले को छुपाने उनके शव को प्लांटेशन में फेंक दिया गया। वहीं पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मृतक के पेट में जहर का मिलना और शरीर में चोट के निशान से आशंका व्यक्त की जा रही थी कि शराब में जहर देकर हत्या की गई है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में संबंधित चिकित्सक द्वारा मृत्यु की प्रकृति हत्यात्मक बताने पर जयनगर पुलिस ने अज्ञात के विरुद्ध हत्या का अपराध दर्ज किया था। पुलिस जांच में यह बात भी सामने आई थी कि कर्मचारी नेता ने महावीरपुर ग्राम स्थित शराब दुकान से शराब खरीदी थी। इस दौरान एक युवक उनके पीछे आया था। उसके बाद कर्मचारी नेता के दुकान से निकलते ही वह भी तेजी से भागते हुए बाइक से उनके पीछे निकला था। काफी प्रयास के बावजूद पुलिस कर्मचारी नेता के पीछे आने वाले बाइक चालक का पता लगाने में असफल रही। घटना के बाद हत्यारों तक पहुंचने अलग-अलग पुलिस टीम ने घटनास्थल के समीप महावीरपुर एवं अजीरमा गांव में डेरा डाल दिया था। एसपी की मानिटरिंग में मामले से जुड़े सभी बिंदुओं पर बारीकी से जांच करते हुए अनेक संदेहियों से सघन पूछताछ की गई थी। पुलिस ने मोबाइल टावर लोकेशन एवं काल डिटेल के जरिए तफ्तीश भी की थी, लेकिन नतीजा सिफर रहा और आज तक पुलिस अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझा पाने में नाकाम रही है।

क्या है मामला

हत्या के शिकार जनार्दन प्रसाद यादव जिला चिकित्सालय अंबिकापुर में सुपरवाइजर होने के साथ बहुउद्देशीय स्वास्थ्य कर्मचारी संघ के सरगुजा जिला अध्यक्ष भी थे। उनका शव 30 अक्टूबर 2017 को जयनगर थाना क्षेत्र के ठाकुरपुर गांव के समीप आमगांव प्लांटेशन में संदिग्ध परिस्थितियों में मिला था। वे 29 अक्टूबर को अंबिकापुर स्थित निवास से निकले थे और वापस घर नहीं लौटे थे। सूचना पर पहुंची जयनगर पुलिस टीम ने उनकी बाइक लाश के समीप बरामद की थी। जांच में कर्मचारी नेता के शव में खरोच के कई निशान मिले थे और मुंह से झाग निकला हुआ था। प्रथम दृष्टया ही मामला हत्या का प्रतीत हो रहा था।

गठित पुलिस टीम कर रही है जांच

एसपी राजेश कुकरेजा ने कर्मचारी नेता के अंधे कत्ल को चुनौती मानते हुए हत्यारों तक पहुंचने एक बार फिर पुलिस टीम गठित की है। टीम में ओड़गी एसडीओपी मंजूलता बाज व प्रेमनगर एसडीओपी प्रकाश सोनी के नेतृत्व में भटगांव टीआइ किशोर केवट, जयनगर थाना प्रभारी सुनीता भारद्वाज एवं करंजी चौकी प्रभारी चित्रलेखा साहू शामिल है। टीम ने पूर्व में की गई जांच का बारीकी से अवलोकन करने के बाद संदेहियों से पूछताछ प्रारंभ कर दी है।

एसपी राजेश कुकरेजा की मानिटरिंग में टीम द्वारा जनार्दन हत्याकांड का पर्दाफाश करने हर संभव कोशिश की जा रही है। पूर्व में की गई विवेचना बारीकी से अध्ययन कर सभी बिंदुओं पर जांच कर संदेहियों से पूछताछ जारी है। हत्यारों तक पहुंचने हर संभव प्रयास किया जा रहा है।

मंजूलता बाज

एसडीओपी ओड़गी

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020