बिश्रामपुर । नईदुनिया न्यूज

शिक्षा गुणवत्ता एवं बेहतर परीक्षा परिणाम को लेकर नगर के गर्ल्स हायर सेकेंडरी स्कूल सभाकक्ष में जिले भर के हाईस्कूल एवं हायर सेकेंडरी स्कूलों के प्राचार्यों सहित बीईओ, एबीईओ, बीआरसी एवं संबंधित अधिकारियों की जिला स्तरीय बैठक गुरुवार को संपन्न हुई। बैठक में कक्षा 10वीं एवं 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं में बेहतर परीक्षा परिणाम को लेकर आपकी चर्चा के बाद प्राचार्य एवं संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए।

बैठक को संबोधित करते हुए जिला मिशन समन्वयक शशिकांत सिंह ने कहा कि कलेक्टर दीपक सोनी की मंशा है कि वर्तमान शिक्षा सत्र के परीक्षा परिणाम में छत्तीसगढ़ राज्य की टाप टेन सूची में सूरजपुर के शासकीय स्कूलों में अध्ययनरत विद्यार्थियों का नाम भी दर्ज हो। इसके लिए शिक्षा गुणवत्ता एवं बेहतर परीक्षा परिणाम के उद्देश्य से प्राचार्यो से उनका अभिमत जानने के बाद उन्होंने कहा कि आप सभी के प्रयासों से बेहतर परीक्षा परिणाम लाया जा सकता है। इसके लिए आप सभी योजनाबद्ध तरीके से अध्यापन कार्य संपन्न कराएं। उन्होंने बीआरसीसी के माध्यम से गुणवत्ता युक्त शिक्षा के लिए अधिकांश विद्यालयों में आडियो वीडियो क्लिप कोचिंग उपलब्ध कराने की बात कही। उन्होंने कहा कि व्हाट्सएप ग्रुप के जरिए कलेक्टर स्वयं शिक्षा गुणवत्ता की सतत निगरानी करेंगे। उन्होंने कहा कि कक्षा 10वीं एवं 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं में बेहतर परीक्षा परिणाम के लिए प्राचार्य एवं संबंधित अधिकारी अपने दायित्वों का पूरी ईमानदारी से पालन करें। इसके साथ ही उन्होंने चेतावनी भरे लहजे में कहा कि अध्यापन कार्य में लापरवाही को कतई बर्दाश्त नहीं की जाएगी। सभी वक्ताओं ने एक स्वर में कहा कि यदि शिक्षक संकल्प के साथ अपने कर्तव्यों का पूरी निष्ठा एवं ईमानदारी के साथ पालन करें तो, बोर्ड परीक्षाओं में बेहतर परीक्षा परिणाम प्राप्त किया जाना संभव है। बैठक में सूरजपुर जिले के शासकीय हाई एवं हायर सेकेंडरी स्कूल के प्रचायोर् सहित समस्त बीईओ, एबीईओ, बीआरसी, विकासखंड परियोजना अधिकारी, साक्षर भारत सहायक परियोजना समन्वयक एवं समग्र शिक्षा के अधिकारी मौजूद रहे।

मंथली टेस्ट को वीकली करने की व्यवस्था पर दिया जाएगा जोर

सूरजपुर बीईओ केसी साहू सहित प्रतापपुर बीईओ जनार्दन सिंह, प्रेमनगर बीईओ आलोक सिंह एवं गर्ल्स हायर सेकेंडरी स्कूल के प्राचार्य आशीष भट्टाचार्य ने भी कक्षा 10वीं एवं 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं में बेहतर परीक्षा परिणाम लाने के संबंध में अपने विचार व्यक्त किए। श्री भट्टाचार्य ने कहा कि मंथली टेस्ट को वीकली टेस्ट की व्यवस्था में तब्दील करने के साथ ही कमजोर बच्चों को उनके अभिभावकों के समक्ष मोटिवेट कर परीक्षा परिणाम बेहतर लाया जा सकता है। इसके साथ ही कमजोर बच्चों को विषय वार कोचिंग के माध्यम से भी सकारात्मक परीक्षा परिणाम प्राप्त किया जा सकता है।

Posted By: Nai Dunia News Network